दो महीने में दो लाख से अधिक जगहों पर पहुंचा ‘एंटी रोमियो दल’

डीएन संवाददाता

यूपी में महिलाओं और युवतियों के साथ होने वाली छेड़छाड़ को यूपी सरकार ने गंभीरता से लिया और इसी के चलते एंटी रोमियो दल की शुरूआत की गई। दो महीने में क्या आंकड़े आए, देखिए इस रिपोर्ट में..

योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, यूपी
योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री, यूपी

लखनऊ: यूपी में महिलाओ के साथ हो रही छेड़छाड़ की वारदात को बढ़ता देख कर सीएम योगी ने प्रदेश स्तर पर एंटी रोमियो दल की शुरूआत की थी। बता दें कि सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं और युवतियों के साथ अभद्रता की घटनाओं को रोकने के लिए दो महीने पहले ही इस दल ने काम शुरू किया। बता दें कि यूपी सरकार ने 22 मार्च को एंटी रोमियो दल की शुरूआत की थी। दल ने प्रदेश स्तर पर काम किया। इस दौरान एंटी रोमियो दल महिलाओं और लड़कियों के साथ छेड़खानी करने वाले युवकों पर नजर रखता है। सार्वजनिक स्थानों जैसे चौराहों, मार्केट, माल्स, स्कूलों, बस स्टेशनों पर ये दल अपनी पैनी नजर रखता है।

चेकिंग करती एंटी रोमियो दल की टीम

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में बताया गया कि दो महीने में दो लाख से अधिक जगहों पर दल ने चेकिंग की। इस दौरान 7 लाख 42 हजार से अधिक व्यक्तियों की चेकिंग की गई। 2 महीने में 3 लाख 38 हजार से अधिक व्यक्तियों को पुलिस ने दुबारा गलती न करने के लिए सचेत किया। साथ ही पुलिस ने इस संबंध में कुल 538 अभियोग पंजीकृत कर 1264 व्यक्तियों के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही भी की।

बता दें कि शासन ने कड़े निर्देश दिए गए थे कि एंटी रोमियो दल यह सुनिशचित करेगा कि राह चलते बालिकाओं और महिलाओं को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होगी। इसके तहत सादे कपड़ो में महिला कांस्टेबलों की ड्यूटी लगाई गई है ताकि शोहदों की आपत्तिजनक हरकतों की सूचना मिल सके। साथ ही यह भी सुनिशचित किया जाए कि छेड़खानी करने वालों के बाल कटवा देने, चेहरों पर कालिख पुतवा देने, मुर्गा बना देने जैसी कोई कायर्वाही न हो। इसका कोई विधिक आधार नही है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …