Unnao Rape Case: CBI 7 दिन में सौंपे हादसे की जांच रिपोर्ट, CJI देखेंगे पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट

डीएन ब्यूरो

उन्‍नाव रेप केस मामले की सुनवाई अब सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो गई है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया खुद पीड़िता की रिपोर्ट देखेंगे। सीबीआई की टीम KGMU अस्पताल पहुंची है। सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट तलब की है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पूरी खबर..


नई दिल्‍ली: उन्‍नाव रेप केस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में शुरू हो गई है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने इस मामले पर पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट मांगी। साथ ही उस चिट्ठी का भी जिक्र किया था जो पीड़िता की मां के द्वारा CJI को लिखी गई थी।

सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में फिर शुरू हो चुकी है। CJI ने सीबीआई अफसर को अदालत में पेश होने को कहा था। जिस पर सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर संपत मीणा अदालत में पेश हुई हैं।

इससे पहले सॉलिसिटर जनरल ने अदालत को जानकारी दी थी कि मामले की जांच कर रहे अफसर लखनऊ में हैं, इसलिए उनका अदालत में पेश हो पाना अभी संभव नहीं होगा। ऐसे में CJI ने कहा था कि CBI फोन से ये जानकारी दे सकती है इसके बावजूद CBI के एक अफसर को पेश होना होगा।

सुनवाई से जुड़ी खास बातें

  1. सुप्रीम कोर्ट ने उन्‍नाव रेप कांड से जुड़े सभी केसों, जिनकी सुनवाई लखनऊ में चल रही है,  लखनऊ में सुनवाई चल रही है, को दिल्ली ट्रांसफर करने का आदेश दिया।
  2. लखनऊ में जिन केस की सुनवाई चल रही है, उन सभी को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया गया है।
  3. चीफ जस्टिस ने पूछा कि क्या पीड़ि‍ता के पिता की मौत पुलिस की कस्टडी में हुई है?
  4. उन्नाव पीड़िता के एक्सीडेंट की जांच को 7 दिन में पूरा करने का आदेश।
  5. सीजेआई ने पीड़िता द्वारा लिखे गए पत्र को पेश करने में हुए विलंब पर सेक्रेटरी जनरल से मांगी रिपोर्ट।
  6. सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता की हालत के बारे में जानकारी मांगी है।
  7. सीजेआई ने आदेश दिया है कि अगर पीड़िता लाए जाने की अवस्था में है, तो हम उसे AIIMS लाने का आदेश देंगे।
  8. पीड़िता की हालत पर सुप्रीम कोर्ट ने दोपहर दो बजे तक रिपोर्ट मांगी है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार