सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका ने कहा, पीड़ित परिवारों को कांग्रेस देगी 10 लाख रुपए मुआवजा

डीएन ब्यूरो

पिछले 24 घंटे से धरने पर बैठी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोनभद्र के पीड़ितों से आज मुलाकात की और कांग्रेस द्वारा 10 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया। इस दौरान उन्‍होंने और क्‍या-क्‍या कहा जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर..

पीड़ि‍त परिवार की महिला के आंसू पोंछती प्रियंका गांधी
पीड़ि‍त परिवार की महिला के आंसू पोंछती प्रियंका गांधी

मिर्जापुर: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोनभद्र के पीड़ितों से आज मिलकर कांग्रेस पार्टी की ओर से पीड़ित परिवारों को 10 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान भी किया। इस दौरान उन्‍होंने कहा कि मेरा मकसद पूरा हुआ।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: सोनभद्र मामले में सीएम ने चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी को किया तलब

उन्हें शुक्रवार को मिर्जापुर जिला प्रशासन ने सोनभद्र जाते समय हिरासत में ले लिया था। प्रियंका सोनभद्र में हुए नरसंहार के पीड़ितों से मिलने उनके गांव जा रही थीं। उन्‍हें चुनार किले के गेस्‍ट हाउस में रखा गया था। जहां उन्‍होंने सोनभद्र न जाने के विरोध में 24 घंटे तक धरना जारी रखा और पीड़ितों के परिजनों से मिलने के बात ही समाप्‍त किया। 

पीड़ि‍त परिवारों की बिलखती महिलाओं को ढांढस बंधाती प्रियंका गांधी

यह भी पढ़ें: सोनभद्र नरसंहार: प्रियंका गांधी से लिपटकर रो पड़ी पीड़ित परिवार की महिलाएं

गौरतलब है कि उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को सोनभद्र हत्याकांड के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया था। योगी ने लखनऊ में संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी, जब कांग्रेस की सरकार थी।

यह भी पढ़ें: सोनभद्र की परमिशन नहीं, मिर्जापुर में प्रियंका से मिलने पहुंचे पीड़ित परिजन

मुख्‍यमंत्री योगी के मुताबिक सोनभद्र के विवाद के लिए 1955 और 1989 की कांग्रेस सरकार दोषी है। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत की जमीन को 1955 में आदर्श सोसाइटी के नाम पर दर्ज किया गया और बाद में जमीन को किसी व्यक्ति के नाम 1989 में कर दिया गया। 1955 में कांग्रेस की सरकार थी। तभी से यह झगड़ा चला आ रहा था। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार