सीतापुरः मां की गोद से तीन माह की बच्ची को उठा ले गया भेड़िया

डीएन ब्यूरो

सदरपुर के बसुदहा गांव में इन दिनों ग्रामीण काफी डरे हुए नजर आ रहे है। इसका अंदाजा इसी से ही लगाया जा सकता है कि ये लोग शाम ढलते ही घरों में कैद हो जाते है। ग्रामीणों के इस खौफ की वजह कोई चोर नहीं बल्कि यहां के भेड़िए हैं। डाइनामाइट न्यूज़ की स्पेशल रिपोर्ट

फाइल फोटो
फाइल फोटो

सीतापुरः आजकल गांवों में जंगली जानवरों का आतंक बढ़ता जा रहा है। इन जानवरों का ज्यादातर शिकार और कोई नहीं बल्कि बच्चे हो रहे है। ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला सदरपुर के बसुदहा गांव में आया। 

बसुदहा गांव में शाम के समय घर के बाहर बैठी एक महिला की गोद से उसकी तीन माह की बच्ची को एक भेड़िया झपट्टा मारकर दबोच ले गया। महिला के शोर मचाने पर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने जिस तरह भेड़िया भागा था वहां जाकर बच्ची की काफी खोज की लेकिन उन्हें उस मासूम का कुछ भी पता नहीं चला।

यह भी पढ़ेंः OMG! जब शिक्षकों की पिटाई से मासूम बच्चों का हुआ बुरा हाल, महकमा हुआ शर्मसार

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की शाम को गांव बसुदहा के ईश्वरदीन की पत्नी जशोदा अपनी बच्ची को आंगन में बैठकर दूध पिला रही थी कि तभी अचानक वहां एक भेड़िया आ पहुंचा और वह उसकी बच्ची पर झपट पड़ा। 

फाइल फोटो

महिला ने हालांकि काफी शोर मचाया लेकिन भेड़िया बच्ची को मुंह में दबाकर खेतों की तरफ भाग गया। पीड़िता की चीख-पुकार सुनकर जब ग्रामीण मौके पर पहुंचे तब तक काफी देर हो चुकी थी। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले 15 दिनों से कुछ भेड़ियों ने गांव में आतंक मचा रखा है। 

यह भी पढ़ेंः DN Exclusive: आखिर क्यों मौत को गले लगा रहे हैं भारत के लोग..जानिये दर्दनाक हकीकत

 शाम ढलते ही यहां उनके मवेशी और छोटे बच्चे इनका शिकार हो रहे है। इस मामले में एसडीएम शशिभूषण राय का कहना है कि उन्हें इस घटना की कोई सूचना नहीं मिली है। हालांकि ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने मामले की सूचना वन विभाग को दी। 

 इस पर वन विभाग ने अपनी टीम को भी खेतों की तरफ भेजा लेकिन बच्ची का कुछ पता नहीं चल पाया। अचानक बच्ची पर हुए हमले से ग्रामीणों में काफी खौफ है। लोग शाम ढलते ही घरों में कैद होने को मजबूर है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार