OMG! जब शिक्षकों की पिटाई से मासूम बच्चों का हुआ बुरा हाल, महकमा हुआ शर्मसार

डीएन ब्यूरो

स्कूल को विद्या का मंदिर कहा जाता है लेकिन कई बार यहां बच्चों को शिक्षा देने वाले शिक्षक ऐसा कदम उठा बैठते हैं कि उनकी करतूतों से पूरे महकमें को शर्मसार होना पड़ता है। अब तक ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। जाने ऐसे टीतरों को बारे और पढ़ें क्यों की उन्होंने गंदी हरकत? डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः अभी हाल ही में शिक्षक दिवस मनाया गया था। इस दिन सब लोग सोशल मीडिया पर अपने गुरुओं के साथ अपने स्कूली समय की फोटो को न सिर्फ साझा कर रहे थे बल्कि तरह-तरह के अच्छे-बुरे कमेंट्स भी कर रहे थे। शिक्षक को लेकर बुरे कमेंट यूं तो समझ से परे है लेकिन कई मर्तबा कुछ शिक्षकों की गलत हरकत से यह पेशा खराब हो जाता है। विद्या का मंदिर कहे जाने वाले स्कूल में भी कुछ ऐसे ही शिक्षकों के कारण बच्चों और अभिभावकों में असुरक्षा का माहौल नजर आता हैं। कौन है आखिर इसका कसूरवार..जाने इस स्पेशल रिपोर्ट में

यह भी पढ़ेंः शिक्षक दिवस पर विशेष, इन अद्भुत गुणों ने डॉ. राधाकृष्णन को बनाया महान

 

प्रतीकात्मक तस्वीर 

 इन शिक्षकों ने विद्या के मंदिर को किया शर्मसार

1. एक शिक्षक की मार उसके छात्र पर इतनी महंगी पड़ेगी कि इसके लिए उसे एक साल की सजा मिलेगी यह खुद उस अध्यापक ने बच्चे को पीटने से पहले सोचा नहीं था। मामला कर्नाटक के एक स्कूल का है। यहां दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले एक बच्चे की शिक्षक ने इसलिए पिटाई की क्योंकि वह स्कूल यूनिर्फाम के जूते नहीं पहनकर आया था। इस पर शिक्षक ने उसे छड़ी से पीटा तभी पिटाई के दौरान बच्चे की आंख में चोट लग गई। 

जब वह घर पहुंचा तो उसने अपने मम्मी-पापा से आंख में दर्द की शिकायत की। इस पर जब उसे अस्पताल ले जाया गया तो चोट को गंभीर देख डॉक्टरों ने ऑपरेशन का निर्णय लिया। लेकिन इसके बाद भी उसकी आंख ठीक नहीं हुई और बच्चे की बाईं आंख की रोशनी चली गई। यह मामला कोर्ट में चला गया और अब सुप्रीम कोर्ट ने 5 सितंबर को मामले में दोषी पाए गए शिक्षक को एक साल जेल की सजा सुनाई है।   

2. राजस्थान के चुरु जिले में छात्र-छात्राओं की बेरहमी से पिटाई के मामले में सरदारशहर तहसील के गांव बंधनाऊ के आचार्य महाप्रज्ञ आदर्श राउमावि में दोषी पाए गए शिक्षक को डीईओ को एपीओ करना पड़ा। वहीं इसी स्कूल की 4 छात्राओं ने आरोपी शिक्षक समेत दो अन्य लोगों के खिलाफ थाने में मारपीट व प्रताड़ित करने का भी मामला दर्ज करवाया था।

3. बिहार के दरभंगा जिले में जुलाई में एक मामला आया था। यहां एक स्कूल शिक्षक पर छात्राओं ने आरोप लगाया था कि वह उन पर गंदी नजर रखता है। साथ ही वह बच्चों को बहला-फुसलाकर गंदी फिल्में भी दिखाता था। इन छात्राओं ने जब यह बात अपने अभिभावकों को बताई तो उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की। इसके बाद एसएसपी के निर्देश पर पुलिस ने आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ेंः DN Exclusive: निजी कोचिंग सेंटरों पर संकट, प्रतियोगी परीक्षाओं की मुफ्त कोचिंग देगी सरकार, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

प्रतीकात्मक तस्वीर

4. राजस्थान के दौसा में पिछले महीने अगस्त में एक शिक्षक द्वारा बच्चे की पिटाई करने के मामले ने काफी तूल पकड़ा था। छात्र का कसूर सिर्फ इतना था कि वह देरी से कक्षा में पहुंचा था। इस पर शिक्षक ने उसे लात-घूसों से पीटा था, जब वह बच्चे को पीट रहा था तो यह वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई और देखते ही देखते इस पिटाई का वीडियो वायरल हो गया। जिसके बाद बच्चे के अभिभावकों ने इसकी शिकायत पुलिस से की थी। पुलिस ने वीडियो देखने के बाद शिक्षक के खिलाफ केस दर्ज भी किया था।

5. इसी साल मई में उत्तर प्रदेश के शामली जिले में शिक्षक की पिटाई का मामला सामने आया था। यहां शामली जिले के एक स्कूल में पढ़ने वाले पहली कक्षा के छात्र को शिक्षक ने बेरहमी से पीटा। बच्चे का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने होमवर्क को पूरा नहीं किया था। 

इस पर शिक्षक ने उसे इतना मारा कि वह स्कूल से घर जाते समय रास्ते पर ही बेहोश हो गया। इसके बाद उसके पिता की शिकायत पर शिक्षक के खिलाफ मामला दर्ज कर किया गया था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार