आईपीएस सौरभ गुप्ता ने कहा- IAS, IPS अफसरों के लिए नई कैडर नीति है काफी अच्छी

मनोज टिबड़ेवाल आकाश

राजस्थान के अजमेर जिले के रहने वाले इस नौजवान ने अच्छी-खासी कॉरपोरेट नौकरी जब छोड़ी तो घर-परिवार और यार-दोस्तों वालों को लगा कि अरे.. यह क्या किया लेकिन मन में कुछ अलग करने का जज्बा लिये सौरभ गुप्ता ने जब यूपीएससी का एक्जाम दिया और सफल होकर आईपीएस बन बैठे तो हर कोई उनके निर्णय की दाद देने लगा। सौरभ मानते हैं कि जीवन में कुछ अलग करना है तो आपको रिस्क तो लेना पड़ेगा।

सौरभ गुप्ता
सौरभ गुप्ता

नई दिल्ली: भारत सरकार ने पिछले साल ही देश की सबसे प्रतिष्ठित मानी जाने वाली परीक्षा भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए नई कैडर पॉलिसी घोषित की है। इसे लेकर यूपीएससी की परीक्षा में बैठने वाले लाखों छात्रों में संशय है कि कौन सी कैडर नीति बेहतर है.. नयी वाली या फिर जो दशकों से चली आ रही है। इस सवाल का जवाब दिया इसी साल UPSC की परीक्षा पास करने वाले युवा सौरभ गुप्ता ने। 

यह भी पढ़ेंः मनोज टिबड़ेवाल आकाश द्वारा 2016 बैच के आईएएस अतहर आमिर का साक्षात्कार

UPSC टॉपर्स के देश के सबसे बड़े टॉक-शो ‘एक मुलाक़ात’ में डाइनामाइट न्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ मनोज टिबड़ेवाल आकाश से विशेष साक्षात्कार के दौरान सौरभ ने कहा कि ‘भारत सरकार ने IAS, IPS अफसरों के लिए जो नई कैडर नीति बनायी है वह काफी अच्छी है, इससे राष्ट्रीयता की भावना का बोध होता है और आपको महसूस होता है कि वाकई आप एक ऐसी सर्विस ज्वाइन करने जा रहे हैं जो अखिल भारतीय स्तर की है न कि एक राज्य के स्तर की’।

यह भी पढ़ेंः मनोज टिबड़ेवाल आकाश द्वारा 2018 बैच की आईएएस टॉपर अनु कुमारी का साक्षात्कार

डाइनामाइट न्यूज़ पर प्रसारित होने वाले एक मुलाक़ात कार्यक्रम में एक अन्य सवाल के जवाब में सौरभ ने कहा कि जो नौजवान सिविल सेवा की परीक्षा में सफल होना चाहते है उन्हें ‘स्वयं पर भरोसा रख कड़ी मेहनत करनी होगी’ फिर यूपीएससी की परीक्षा में सफल होने से कोई नही रोक सकता। 

यह भी पढ़ेंः मनोज टिबड़ेवाल आकाश द्वारा 2015 बैच की आईएएस टॉपर इरा सिंघल का साक्षात्कार

कोचिंग से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि यह बात सही नही है कि आईएएस बनने के लिए कोचिंग इंस्टीच्यूट ज्वाइन करना अनिवार्य होता है। बिना कोचिंग के घर से अच्छे तरीके से पढ़ाई कर सफल हुआ जा सकता है। ऑनलाइन तैयारी को उन्होंने एक बेहतर माध्यम बताया। 

यह भी पढ़ेंः मनोज टिबड़ेवाल आकाश द्वारा 2014 बैच के आईएएस टॉपर गौरव अग्रवाल का साक्षात्कार

आये दिन यह सुनने में आता है कि फलां IAS-IPS ने आत्महत्या कर ली, इसे कैसे रोका जाना चाहिये? इस सवाल पर टॉक-शो एक मुलाकात में डाइनामाइट न्यूज़ के एडिटर-इन-चीफ मनोज टिबड़ेवाल आकाश से सौरभ ने कहा कि हमें पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में अंतर समझना होगा और कोशिश ये करनी होगी कि मष्तिष्क पर काम के तनाव को हावी न होने दिया जाये।  

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)









आपकी राय

#DNPoll:क्या आप एग्जिट पोल पर भरोसा करते हैं?

हां
46.15%
नहीं
53.85%