पितृ पक्ष: लगाये ये वृक्ष, मिलेगी पितरों को शांति

डीएन ब्यूरो

वृक्ष और पेड़ पौधों में भी प्राण होते हैं।अगर पितृ पक्ष में शुभ वृक्ष लगाये जाएं या उनकी उपासना की जाय तो पितरों का विशेष आशीर्वाद मिल सकता है.

फाइल फोटो

पितृ पक्ष:आज देश में पर्यावरण को लेकर सभी जागरूक है।सभी देशवासियों में इस समय पर्यावरण के प्रति एक संवेदना के साथ ही साथ एक कर्तब्य बोध भी है। प्लास्टिक के उपयोग न करने का अभियान अब देश व्यापी अभियान बन चुका है। वृक्ष और पेड़ लगाने को लेकर जितनी जागरूकता पहले थी उससे कही अधिक इस समय लोगों में दिखाई पड़ती है। शुभ वृक्षों पर तो पितरों और आत्माओं का निवास भी माना जाता है.

यह भी पढ़ें: करें ये महाउपाय, मिलेगा पूर्वजों का आशीर्वाद

पितृ पक्ष में रोपें ये पौधे, मिलेगा पूर्वजों का आशीर्वाद

अगर पितृ पक्ष में शुभ वृक्ष लगाये जाएं, उनकी उपासना की जाय, उन्हें नित्य पानी दिया जाये तो पितरों का विशेष आशीर्वाद मिलता है. पौधों में भी प्राण होते हैं. ये हर तरह की सकारात्मक और नकारात्मक उर्जा को ग्रहण कर लेते हैं. कुछ वृक्ष केवल सकारात्मक उर्जा देते हैं और कुछ केवल नकारात्मक. शुभ वृक्षों पर तो पितरों और आत्माओं का निवास स्थान भी माना जाता है. अगर पितृ पक्ष में शुभ वृक्ष लगाये जाएं और उनकी उपासना की जाय तो पितरों को काफी प्रसन्नता होती है।

जानते है कौन से है वे वृक्ष 
1) पीपल- पीपल के वृक्ष को बहुत ही पवित्र माना गया है।पितृ पक्ष में पीपल के वृक्ष को लगाना और उन्हें जल अर्पण करने का बड़ा महत्व बताया गया है।पीपल वृक्ष 
के नीचे नियमित दीये जलाने का भी बड़ा महत्व शास्त्रों 
में बताया गया है।ऐसा करने से पितर आशीर्वाद देंगे।

2) बरगद- बरगद को हिन्दू धर्म में आयु और मोक्ष देने वाला वृक्ष माना गया है।अगर किसी को आयु संबधी कोई समस्या हो तो उसे बरगद का वृक्ष लगाना चाहिए।साथ ही अपने पूर्वजों की शांति के लिए वृक्ष के नीचे बैठकर शिवजी की पूजा करनी चाहिए।साथ ही साथ बरगद के वृक्ष कि परिक्रमा करना भी बहुत शुभदायी माना गया है।

3) बेल- पितृ पक्ष में बेल का वृक्ष लगाने से मान्यता है कि हमारे अतृ्प्त पूर्वजों कि आत्मा को शांति मिलती है।अमावस्या के दिन शिव जी को बेल पत्र और गंगाजल अर्पित करने से सभी पितरों को मुक्ति मिलती है इसके साथ ही साथ बेलपत्र पर चन्दन लगाकर शिव जी को अर्पित करने से डरावने या पितरों के सपने नहीं आते।

यह भी पढ़ें: करें इन मंत्रों का जाप पूर्वज देगें आशीर्वाद

4)अशोक- जहां अशोक होता है, वहां शोक नहीं होता।अशोक का वृक्ष घर के मुख्य द्वार पर लगाने से घर में नकारात्मक उर्जा का प्रवेश नही हो पाता। साथ ही घर का भारीपन काफी कम हो जाता है ।

5)तुलसी-मान्यता है कि तुलसी का एक पत्ता भी वैकुण्ठ तक पंहुचा सकता है। पितृ पक्ष में तुलसी का पौधा लगाकर उसकी देखभाल की जाय तो पितरों को निश्चित मुक्ति मिलती है।तुलसी के पौधे में नियमित जल देने से पितरों को तृप्ति मिलती है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार