10 बैंकों के विलय के विरोध में एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल

डीएन ब्यूरो

केंद्र सरकार के 10 सरकारी बैंकों के चार बैंकों में विलय के फैसले का विरोध करते हुए मंगलवार को देश भर के सरकारी और निजी बैंकों के लगभग तीन लाख कर्मचारी हड़ताल पर हैं।

विरोध प्रदर्शन करते हुए कर्मचारी
विरोध प्रदर्शन करते हुए कर्मचारी

हैदराबाद: केंद्र सरकार के 10 सरकारी बैंकों के चार बैंकों में विलय के फैसले का विरोध करते हुए मंगलवार को देश भर के सरकारी और निजी बैंकों के लगभग तीन लाख कर्मचारी हड़ताल पर हैं। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए) के महासचिव सी. वेंकटचलम ने यूनीवार्ता को बताया कि राष्ट्रव्यापी हड़ताल के कारण देश भर में सामान्य बैंकिंग सेवाएं प्रभावित रहेंगी। अधिकारी भी हड़ताल को समर्थन दे रहे हैं लिहाजा शाखाओं में लिपिक कार्य स्वीकार नहीं कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: PM Modi गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर जाएंगे
उन्होंने बताया कि बैंक चेक नहीं ले रहे हैं, लिहाजा चेक का भुगतान बाधित हुआ है। वित्त विभाग का लेन-देन भी प्रभावित हुआ है। एटीएम में भी नकदी की कमी हो गयी है। वेंकटचलम ने बताया कि कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ सभी शहरों और कस्बों में जुलूस और रैलियां निकालीं तथा विरोध-प्रदर्शन किया। बैंक कर्मचारी सरकार से फैसला वापस लेने की मांग कर रहे हैं। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार