राजस्थान, मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की बढ़ी टेंशन..CM पर फंसा पेंच

डीएन ब्यूरो

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जीत की खुशी को कांग्रेस को अभी पचाने में बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इन राज्यों में CM की कुर्सी पर कौन बैठेगा इसको लेकर स्थिति साफ नहीं हो रही है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में CM पर पेंच
राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में CM पर पेंच

नई दिल्लीः पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के मतगणना के नतीजों के बाद जहां BJP की लुटिया डूब गई वहीं कांग्रेस के लिए 2014 के बाद यह सुनहरा मौका है जब वह खासतौर पर बीजेपी के गढ़ माने जाने वाले राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सीटों पर कांग्रेस ने न सिर्फ सेंध लगाई बल्कि यहां अपनी सरकार की दावेदारी भी पेश कर दी।     

  

जीते के बाद जश्न मनाते कांग्रेसी 

 

अब कांग्रेस के सामने ये परेशानी खड़ी हो गई है कि आखिर इन तीन राज्यों में सीएम की गद्दी पर किसको विराजा जाए। बात अगर राजस्थान की करें तो यहां सचिन पायलट और अशोक गहलोत के मुख्यमंत्री बनने को लेकर उनके समर्थक कों में होड़ मची पड़ी है। दोनों के समर्थक अपने-अपने प्रिय नेता को पार्टी आलाकमान से मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं। अब विधायक दल की बैठक भी हो चुकी है बावजूद इसके मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा नहीं हो पाई है।     

 

राजस्थान और मध्य प्रदेश में CM को लेकर फंसा कांटा

 

वहीं मध्य प्रदेश में 15 साल के बाद सत्ता का स्वाद चखने के लिए फड़फड़ा रही कांग्रेस से अब इंतजार नहीं हो रहा है। लेकिन यहां भी मुख्यमंत्री के चेहरे पर तकरार जारी है। प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी का समर्थन मिलने के बाद कांग्रेस अब आसानी से यहां सरकार बनाने जा रही है। इसके बावजूद विधायक दल की बैठक और राज्यपाल से मुलाकात के बाद भी मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है। अब एक तरफ जहां मुख्यमंत्री की दौड़ में कमलनाथ का पलड़ा भारी दिख रहा है वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक भी उनको मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं।     

 

CM की दौड़ में टीएस सिंहदेव का भी नाम

 

छत्तीसगढ़ में तो कांग्रेस ने पूर्ण बहुमत हासिल कर अपनी खोई साख को एक बार फिर से पा लिया है। छत्तीसगढ़ में में अब सीएम को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो रही है। विधायक दल की बैठक के बावजूद अभी साफ नहीं हो पा रहा है कि भूपेश बघेल सीएम होंगे या फिर टीएस सिंहदेव वहीं मुख्यमंत्री की दौड़ में ताम्रध्वज साहू का भी नाम आ रहा है। स्थिति को कंट्रोल करने के लिए आलाकमान ने मल्लिकार्जुन खड़गे को भेजा है।  

अब इसका निर्णय विधायक दल ने कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर छोड़ा है। अब राहुल ही तय करेंगे की इन तीनों प्रदेश में सीएम की गद्दी पर कौन बिराजेगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार