महराजगंज: पैतृक गांव पहुंचा शहीद जवान का पार्थिव शरीर, पंकज त्रिपाठी अमर रहें के नारों से गूंजा आसमान, अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरु

आशीष सोनी/कार्तिकेय पांडेय

महराजगंज जिले के फरेन्दा इलाके के हरपुर गांव के निवासी सीआरपीएफ जवान पंकज त्रिपाठी का पार्थिव शरीर कुछ ही मिनट पहले गांव पहुंचा है। यहां की मंजर बेहद दर्दनाक और गम भरा है। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


फरेन्दा (महराजगंज): कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान पंकज त्रिपाठी का पार्थिव शरीर जैसे ही उनके घर पहुंचा.. समूचा आसमान.. “पंकज त्रिपाठी अमर रहें” के नारों से गूंज उठा। 29 साल के वीर शहीद पंकज का जन्म 12 मार्च 1990 को हुआ था।

यह भी पढ़ें: महराजगंज जिले के वीर जवान पंकज त्रिपाठी कश्मीर के आतंकी हमले में हुए शहीद, मातम, मां का बुरा हाल

डाइनामाइट न्यूज़ पिछले दो दिनों से पंकज से जुड़ी हर एक खबर सबसे पहले आप तक पहुंचा रहा है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज के स्कूली बच्चों ने आतंकवाद के खिलाफ कैंडल जला कर किया मौन धारण

कल रात नेताओं के जमावड़े के बाद आज सुबह फिर तमाम नेता पंकज के आवास पर पहुंचे हैं। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: 22 घंटे बाद भी शहीद जवान पंकज त्रिपाठी के घर नही पहुंचे डीएम और सांसद, आक्रोशित जनता ने की सीएम को बुलाने की मांग

यहां पर शव पहुंचते ही परिजनों में चूख-पुकार मच गयी। मां-पिता और पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पंकज अपने पीछे तीन साल के इकलौते बेटे को छोड़ गये हैं। 

 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: 27 घंटे बाद शहीद जवान पंकज त्रिपाठी के घर पहुंचे प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री

गांव का मंजर बेहद पीड़ादाय़क है। यह तरफ पाकिस्तान को लेकर गुस्से का माहौल है। अब से कुछ ही मिनट बाद वीर शहीद का अंतिम संस्कार शुरु होगा। 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार