महराजगंज: प्रधानमंत्री मोदी के सौभाग्य योजना की खुली पोल, न बत्ती जली, न मीटर लेकिन फिर भी ग्रामीणों को थमा दिया बिल

डीएन संवाददाता

प्रधानमंत्री मोदी ने सौभाग्य योजना के तहत ग्रामीणों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देकर अंधेरे से बाहर निकालने का वादा किया था। कई घरों में मीटर तो लग गए लेकिन बिजली नहीं पहुंची। हद तो तब हो गई जब बिजली विभाग ने ग्रामीणों को बिजली का बिल भेज दिया। डाइनामाइट न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..


महराजगंज: देश के प्रधानमंत्री मोदी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन पर  25 सितंबर, 2017 को सौभाग्य योजना की घोषणा की थी। वादा किया था कि 2019 तक देश के सभी गांवों को अंधेरे से मुक्त कर देंगे। लेकिन मोदी सरकार के सारे वादे खोखले नज़र आ रहे हैं। कई घरों में मीटर तो टांग दिए गए हैं, लेकिन कई महीने बीत जाने बावजूद भी वहां बिजली नहीं पहुंची है। हद तो तब हो गई जब बिजली विभाग ने बेशर्मी दिखाते हुए गरीब गांव वालों को बिजली का बिल थमा दिया। 

ताजा मामला महराजगंज जिले के घुघुली थाना क्षेत्र के अंतर्गत बड़हरा गांव का है। यहां की आधी से ज्यादा आबादी गरीब है। सौभाग्य योजना के तहत इन गरीब ग्रामीणों को मुफ़्त मीटर, बल्ब व केबल यह सब कुछ आज से 4 महीने पहले ही मिल गया था लेकिन अब तक यहां बिजली कनेक्शन नहीं दिया गया लेकिन बिल ज़रूर थमा दिया गया।

यह बी पढ़ें: महराजगंज: किसानों की समस्याओं को लेकर कांग्रेसियों ने निकाला मशाल जुलूस

दीए के सहारे पढ़ाई करने को मजबूर बच्चे
सौभाग्य योजना के तहत दिखावे के नाम पर घरों में मीटर और बल्ब तो लगा दिए गए हैं लेकिन आज भी इन गरीबों के घर दीए से ही रोशन हो रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार ने मीटर लग जाने के 4 महीने बीत जावने के बावजूद भी उन्हें बिजली मुहैया नहीं करवाई है। लिहाज़ा वे दीए के सहारे ही अपना जीवन काटने को मजबूर हैं।

डाइनामाइट न्यूज संवाददाता ने गांव के बच्चों और बुज़ुर्गों से बात की तो उन्होंने मोदी सरकार के सौभाग्य योजना की सारी पोल खोल दी। गांव के बच्चों ने कहा की बिजली न होने की वजह से उन्हें दीए की रोशनी में पढ़ाई करनी पड़ती है। कक्षा चार में पढ़ने वाली विद्या भारती बताती है कि स्कूल से आती है तो घर में बिजली नहीं होती इसलिए दीए की रोशनी में पढ़ती है। कक्षा चार में ही पढ़ने वाला सोनी भारती कहता है कि उसके घर में मीटर तो लगा है लेकिन बिजली विभाग वाले लाइन नहीं देते मतलब बिजली अब तक नहीं पहुंची है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: हिताची बैंक के एटीएम में लगी भीषण आग, धू-धू कर जला ATM

4 महीने पहले लगे हैं मीटर लेकिन बिजली विभाग ने भेज दिया 11 महीने का बिल
ग्रामीणों की शिकायत है कि मीटर लगाए जाने के चार महीने बीत जाने के बावजूद भी यहां अब तक बिजली तो नहीं पहुंची है लेकिन बिजली का बिल पहुंच गया है। 
बिजली विभाग ने बेशर्मी की सारी हदें पार कर दी हैं। ग्रामीणों के यहाँ बल्ब लग गया, मीटर लग गया लेकिन न बल्ब जला न मीटर चला, उसके बावजूद भी बिजली विभाग ने बिजली का बिल भेज दिया। हद तो तब हो गई जब बिजली विभाग ने 4 महीने पहले लगे मीटर के लिए 11 महीने का बिजली का बिल भेज दिया। ग्रामीणों का कहना है कि कुछ घरों में 4 महीने पहले ही मीटर लगाए गए हैं लेकिन उनके घर कभी बिजली नहीं आई। उसके बावजूद भी उन्हें 11 महीनों का बिजली का बिल थमा दिया गया है। किसी को 5 हजार तो किसी को 8 हजार का बिल भेज दिया गया है। बिन बिजली के बिजली का बिल ग्रामीणों के सर का दर्द बन चुका हैं।

 
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार