महराजगंज: राज हत्‍याकांड में 2 माह बाद भी पुलिस जांच अधूरी, कैसे होगा खुलासा

डीएन ब्यूरो

जिले के निचलौल कस्‍बे के कृष्‍णानगर मोहल्‍ले में एक युवक की दो माह पहले हत्‍या हो गई थी। पुलिस मामले की जांच की पड़ताल अभी भी जारी है और पुलिस खाली हाथ है। परिजन न्‍याय के लिए भटक रहे हैं लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर पढ़ें पूरी खबर..


महराजगंज: जिले के निचलौल कस्बे के कृष्णानगर मोहल्ले में राज मद्देशिया की हत्या को दो माह बीत गया है। पूरा परिवार आज भी सदमे में है। सबसे बड़ा सवाल जो परिजन उठा रहे है वह है पुलिसिया जांच पर, परिजनों का कहना है कि हम लोगों को न्याय मिल पायेगा इसकी उम्‍मीद तो बहुत कम है।

बीते 26 जून 2019 को 16 वर्षीय राज मद्देशिया और उसके 3 दोस्त प्रियांशू पुत्र सुरेंद्र, भोलू पुत्र राजकुमार और राज मद्देशिया पुत्र सुभाष मैच खेलने के लिए निकलने थे। इसके बाद रात तक राज के घर न पहुंचने पर परिजनों ने खोजबीन की। अगले दिन 27 जून 2019 को अचानक लोगों ने बताया कि उसका शव नहर में पड़ा हुआ है। शव मिलने के बाद परिजनों में चीखपुकार मच गई। 

बांये राज मद्देशिया व दांये एफआईआर की कॉपी

मामले की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि उसकी गला दबाकर हत्‍या की गई थी। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने राज के साथ खेलने गए लोगों के खिलाफ जांच शुरू की। तीनों पर हत्या के आरोप में केस दर्ज किया गया है। 

तीन माह में भी नहीं पूरी हुई जांच

राज मद्देशिया की हत्या के तीन महीने बीतने को है लेकिन अभी तक पुलिस जांच नहीं पूरी हो पाई है। परिजनों ने तो न्‍याय की उम्‍मीद भी छोड़ दी है। शुक्रवार को मृतक के मां-पिता ने डाइनामाइट न्यूज़ के कार्यालय पहुंचकर रोते-रोते अपनी व्‍यथा सुनाई।  

क्‍या बोली पुलिस

हत्याकांड पर डाइनामाइट न्यूज़ ने जांच अधिकारी थानेदार से बात की तो उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें थाने पर आए केवल एक माह बीता है। जांच की जा रही है, सबके बयान लिए जा रहे हैं। जल्‍द ही मामले का खुलासा कर दिया गया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …