महराजगंज: महाभ्रष्ट SDM की घूसखोरी का सरेआम फूटा भांडा, जमकर चले लात-घूसे, मारपीट का LIVE वीडियो

डीएन ब्यूरो

डाइनामाइट न्यूज लगातार भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे सदर एसडीएम की कारगुजारियों का पर्दाफाश कर रहा है। अवैध वसूली का खुला खेल खेलने वाले इस भ्रष्ट SDM का भांडा बुधवार को सुबह कलेक्ट्रेट परिसर में आज उस समय फूट पड़ा, जब SDM की घूस को लेकर दो पक्षों में जमकर लात-घूसे चले और SDM की रिश्वत से नाराज गरीब जनता खून-खराबे पर उतारू हो गयी। बड़ा सवाल है कि कौन बचा रहा है भ्रष्ट SDM को? क्या शोषण का शिकार बने किसी आदमी की जान जाने के बाद ही SDM पर जिम्मेदार बड़े अफसर कार्यवाही करेंगे?


महराजगंज: डाइनामाइट न्यूज द्वारा लगातार भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे सदर एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद की कारगुजारियां उजागर की जा रही हैं कि किस कदर यह जनता के हितों पर खुलेआम डकैती डाल रहा है। ज्ञानेश्वर प्रसाद की अवैध वसूली और रंगदारी खुलेआम जारी है और जिला प्रशासन के बड़े अफसर इसे अपनी खुलेआम शह दिये हुए हैं। SDM के भ्रष्टाचार से उपजा नंगा नाच आज समय कलक्ट्रेट परिसर में उस समय देखने को मिला, जब SDM की रिश्वत को लेकर दो पक्षों में जमकर लात-घूसे चले। SDM की घूसखोरी से तंग एक आम आदमी जमकर बवाल मचाने को मजबूर हो गया। 

यह भी पढ़ें: एसडीएम सदर के आतंक से महराजगंज में भ्रष्टाचार ने तोड़े सारे रिकार्ड, जिम्मेदार मौन 

डीएम ऑफिस से महज 100 मीटर की दूरी पर मौजूद SDM के कार्यालय में ही ज्ञानेश्वर प्रसाद को घूस देने से नाराज एक आदमी ने दूसरे पर जोरदार हमला बोला। मामला खून-खराबे और जान लेने और देने पर आ गया। देखते ही देखते हमला करने वाला व्यक्ति SDM की रिश्वत से आग बबूला हो उठा और SDM ज्ञानेश्वर प्रसाद को रिश्वत देने वाले की पिटाई करने लगा। परिसर में मौजूद कई अधिकारी व कर्मचारी इस जानलेवा खूनी संघर्ष के मूक दर्शक बने रहे। इस स्थिति से साफ है कि भ्रष्ट एसडीएम को उसकी काली करतूत के लिये कुछ बड़े अधिकारियों और खुला संरक्षण प्राप्त है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज तहसील में भ्रष्टाचार का नंगा खेल, जनता त्रस्त.. तहसीलदार- एसडीएम मस्त 

पीड़ित व्यक्ति ने भी अपने इस गुस्से के जरिये कलक्ट्रेट परिसर में ही अवैध वसूली का खुला खेल खेलने वाले भ्रष्ट SDM का भांडा फोड़ डाला। SDM की काली करतूत से परेशान वहां मौजूद लोगों ने भी मारपीट पर उतारू पीड़ित का साथ दिया।

यह भी पढ़ें: महराजगंज तहसील में मचे भ्रष्टाचार की कहानी..पीड़ितों की जुबानी 

वहां मौजूद अन्य पीड़ितों का कहना था कि भ्रष्ट SDM तारीख के नाम पर लंबे अरसे से उनका शोषण कर रहा है। तारीख लगाने के नाम पर एसडीएम जमकर अवैध वसूली करता है और जो रिश्वत देने में आनाकानी करता है, उसे SDM परिणाम भुगतने की धमकी देता है। पीड़ितों ने कहा कि लगता है कि SDM के पापों का घड़ा अब भर चुका है और भ्रष्ट एसडीएम को इसकी बड़ी सजा मिलने वाली है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: एसडीएम ने उड़ायी नियमों की धज्जियां.. कहा- लगाऊंगा नीली बत्ती..बोलो क्या बिगाड़ लोगे? 

एसडीएम की काली करतूत के कई मामले पहले भी सामने आ चुके है। SDM की ही रिश्तखोरी को लेकर ही आज दो पक्षों में लात-घूसे चले और प्रशासन ने फिर मौन साध लिया। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: 44 लाख का भ्रष्टाचारी जेई पहुंचा जेल, सदर एसडीएम पर कार्यवाही कब? 

बड़ा सवाल यह है कि कानूनों को ठेंगा बताते हुए अपनी गाड़ी पर नीली बत्ती लगाने वाले इस महाभ्रष्ट एसडीएम को आखिर कौन बचा रहा है? SDM के शोषण से जनता को कब निजात मिलेगा? क्या हमारा प्रशासन और कानून इतना अंधा और बहरा हो चुका है कि उसे SDM की कारगुजारियों से परेशान अनगिनत आदमियों की आवाज नहीं सुनाई देती? जब एसडीएम ज्ञानेश्वर प्रसाद सरीखा कोई प्रशासनिक आदमी ही इतना निरकुंश हो जाये तो समाज का हाल क्या होगा? इसे आसानी से समझा जा सकता है।   

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार