लखनऊ: तीन सूत्रीय मांगों को लेकर विधानसभा का घेराव करने पहुंचे कर्मचारियों को पुलिस ने खदेड़ा

डीएन संवाददाता

प्रदेशभर से राजधानी पहुंचे भारी संख्या में कर्मचारी ने अपनी 3 सूत्री मांगों को लेकर विधान सभा का घेराव करने के लिए जा रहे थे। पुलिस बल ने काफी मशक्कत के बाद बैरिकेटिंग लगाकर भाजपा आफिस के सामने रोक लिया। डाइनामाइट न्यूज की स्पेशल रिपोर्ट में जानिये क्या है कर्मचारियों की मांगे


लखनऊ: संयुक्त सहकारी समिति कर्मचारी समन्वय समिति उत्तर प्रदेश के बैनर तले सचिव वेलफेयर सोसायटी और उत्तर प्रदेश सहकारी समिति कर्मचारी संघ प्रदेश के विभिन्न जिलों से आकर के राजधानी में इकठ्ठे हुए थे। हजारों की संख्या में कर्मचारी अपनी तीन सूत्री मांगो को लेकर विधानसभा का घेराव करने जा रहे थे, लेकिन पुलिस बल बैरिकेटिंग लगाकर भाजपा आफिस के सामने कर्मचारियों को रोक लिया। कर्मचारियों ने शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन भी किया।

यह भी पढ़ें: लखनऊ:सफाई कर्मियों का मांगों को लेकर प्रशासन के खिलाफ 'हल्ला बोल'

 

संयुक्त सहकारी समिति के अध्यक्ष नवनाथ पांडेय ने डाइनामाइट न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि सचिव एवं अन्य कर्मचारियों को राज्य कर्मचारियों की भांति नियमित वेतन भुगतान सुनिश्चित कराया जाए। वहीं दूसरी मांग है की संपूर्ण बकाया वेतन का भुगतान शीघ्र कराया जाए। जो लंबे समय से रुका हुआ है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: पेंशन बहाली समेत विभिन्न मांगों को लेकर कर्मचारियों का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल

उन्होंने बताया कि तीसरी मांग यह है कि सेवानिवृत्त की आयु 62 वर्ष किये जाने की मांग को लेकर भारी संख्या में पहुंचे सभी जिलों से  कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो एक बड़ा आंदोलन होगा। जिसका खामियाजा शासन और प्रशासन को भुगतना होगा।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार