प्रयागराज से बलिया तक गंगा खतरे के निशान से ऊपर

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में पिछले दो दिन से मानसून के फिर से सक्रिय होने और तेज बरसात के कारण गंगा नदी प्रयागराज से बलिया तक खतरे के निशान को पार कर गई है जबकि पिछले 24 घंटों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई।

गंगा खतरे के निशान से ऊपर
गंगा खतरे के निशान से ऊपर

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश में पिछले दो दिन से मानसून के फिर से सक्रिय होने और तेज बरसात के कारण गंगा नदी प्रयागराज से बलिया तक खतरे के निशान को पार कर गई है जबकि पिछले 24 घंटों में पूर्वी उत्तर प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: बेटे ने पिता को कुल्हाड़ी से काट डाला, एक के बाद एक लगातार करता रहा वार

जल आयोग की सूचना के अनुसार मघ्यप्रदेश और राजस्थान में लगातार बरसात और बांघों से पानी छोडे जाने से प्रयागराज में गंगा और यमुना नदी के किनारे बसे लोगों की परेशानी और बढा दी है। जिला प्रशासन ने रात में नावों के संचालन पर रोक लगा दी है।

कल मंगलवार को राजस्थान के घौलपुर से चंबल में 21 लाख क्यूसेक और कोटा से पांच लाख क्यूसेक पानी छोडा गया। बाढ का पानी निचले इलाकों में रहने वालों के घरों में घुस गया है। जिला प्रशाान ने सभी को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। आपदा प्रबन्धन की टीमें लगातार लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज रही हैं। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार