यूपी के 2 जिलों में कमिश्नरी सिस्टम लागू होने के डीजीपी ने दिए संकेत, कही ये बात...

डीएन ब्यूरो

गुरुवार की शाम को 14 आईपीएस अफसरों की ट्रांसफर लिस्ट जारी हुई। उसमें नोएडा के चर्चित कप्तान रहे वैभव कृष्ण का भी नाम था, जिन्हें सरकार ने संस्पेड कर दिया है। वहीं लखनऊ के पुलिस कप्तान कलानिधि नैथानी को लखनऊ से हटाकर गाजियाबाद का पुलिस कप्तान बना दिया गया है। खास बात ये है की नोएडा और लखनऊ में बतौर पुलिस कप्तान किसी आईपीएस अफसर की नियुक्ति अभी तक नहीं हो पाई है। ऐसे में दोनों जिलों में सरकार द्वारा प्रायोगिक तौर पर कमिश्नरी सिस्टम लागू किये जाने की चर्चाएं चल रही थी। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर...


लखनऊः यूपी में 112 आपातकालीन सेवा के आज 3 साल पूरे होने पर सेवा मुख्यालय में उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस जवानों को सम्मानित किया गया। साथ ही पुलिस को सही समय पर सूचना देकर कई जानें बचाने में मदद करने वाले आम लोगों को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया है।

यह भी पढ़ेंः 112 सेवा के 3 साल पूरे होने पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन, पुलिसकर्मियों को किया गया सम्मानित

इस मौके पर डीजीपी ने कहा की 112 आपातकालीन सेवा को 1090, एंबुलेंस, फायर आदि से जोड़कर अधिक प्रभावी बनाए जाने का काम तेजी से हो रहा है। वहीं 112 सेवा के पीआरवी जवानों की ट्रेनिंग पर भी विशेष ध्यान दिया गया है। जिससे मुसीबत के समय 112 सेवा के जवान लोगों की जान-माल की हिफाजत कर सकें।

यह भी पढ़ें: पांच आईपीएस अधिकारियों के भ्रष्टाचार की जांच के लिए सीएम ने बनायी एसआईटी 

इस मौके पर डीजीपी ने एक सवाल के जवाब में कहा की सरकार इस पर विचार कर रही है की नोएडा और लखनऊ में कमिश्नरी सिस्टम लागू हो या नहीं। इससे अधिक बोलने से उन्होनें मना कर दिया। 

यह भी पढ़ेंः नोएडा और लखनऊ में एसएसपी की तैनाती नहीं, अभी आयेगी आईपीएस के तबादले की एक और सूची 

इस दौरान दूसरे भारतीय राज्यों का हवाला देते हुए कहा की डकैती, बलात्कार, छेड़छाड़, हत्या जैसी घटनाओं में 2 साल में काफी कमी दर्ज की गई है। साथ ही 112 सेवा पर आने वाले फोन कॉल और पुलिस के मौके पर पहुंचने के समय पर ध्यान दिया गया है। 

यह भी पढ़ेंः यूपी की बड़ी खबर- नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण सस्पेंड, बड़े पैमाने पर आईपीएस के तबादले

अपने अधीनस्थ आईपीएस अफसरों को नसीहत देते हुए डीजीपी ने कहा की पुलिस के सभी अंग मसलन पीएसी, एटीएस, एसटीएफ, जीआरपी, जिला पुलिस टीम भावना से काम करें। तभी हम आम लोगों की उम्मीदों पर खरे उतर पाएगें। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि नोएडा और लखनऊ में IG या उसके ऊपर के रैंक के ऑफिसर की नियुक्ति हो सकती है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार