अयोध्या विवाद: मुस्लिम पक्षकार ने कोर्ट में कहा- इसमें कोई शक नहीं की भगवान राम सम्मान होना चाहिए, लेकिन...

डीएन ब्यूरो

राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई सोमवार को 28वें दिन भी जारी रही। सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ के समक्ष दलील पेश करते हुए मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि भगवान राम का सम्मान होना चाहिए, लेकिन भारत जैसे देश में अल्लाह का भी सम्मान है। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को अयोध्या विवाद की 29वें दिन की सुनवाई के दौरान मुस्लिम पक्षकार ने कहा कि विवाद तो राम के जन्मस्थान को लेकर हैं कि वह है कहां। वक्फ बोर्ड की ओर से पेश राजीव धवन ने दलील दी हम राम का सम्मान करते हैं जन्मस्थान का भी सम्मान करते हैं। इस देश में अगर राम और अल्लाह का सम्मान नहीं होगा देश खत्म हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: सरकार के कड़े फैसले जनता की भलाई के लिए ही हैं

धवन ने कहा कि विवाद तो राम के जन्मस्थान को लेकर है कि वह कहां है! उन्होंने कहा कि पूरी विवादित जमीन जन्मस्थान नहीं हो सकती! जैसा कि हिंदू पक्ष दावा करते हैं। कुछ तो निश्चित स्थान होगा। पूरा क्षेत्र जन्मस्थान नहीं हो सकता।

यह भी पढ़ें: बैंक का सर्वर खराब होने से लोगों की बढ़ी परेशानी, अंदर बैठे आराम फरमा रहे कर्मचारी

धवन ने हिंदू पक्ष द्वारा परिक्रमा के संबंध में गवाहों द्वारा दी गई गवाहियां उसके समक्ष रखीं। उन्होंने हिन्दू पक्ष के गवाहो की गवाही पढ़ते हुए बताया कि परिक्रमा के बारे में सभी गवाहों ने अलग अलग बात कही है। कुछ ने कहा राम चबूतरे परिक्रमा होती थी कुछ ने कहा कि दक्षिण में परिक्रमा होती थी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार