महराजगंज: राम भरोसे चल रही पुरन्दरपुर थाना की चौकी, सिपाही समेत चौकी इंचार्ज रहते हैं नदारद

डीएन ब्यूरो

पुरन्दरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली एक चौकी का हाल कुछ इस तरह है कि वहां आपको ना ही सिपाही मिलेंगे ना ही चौकी इंचार्ज। जरूरी दस्तावेजों का हाल कुछ इस तरह है कि उन्हें बिना किसी चिंता के खुले में टेबलों पर रखा गया है। ऐसे में अब सवाल ये उठता है कि अगर किसी को कोई परेशानी है तो वो आखिर जाए कहां। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ पर पूरी खबर..


महराजगंज: पुरन्दरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली लक्ष्मीपुर में स्थित चौकी बस राम भरोसे चल रही है। यहां न तो सिपाहियों के कुछ अता-पता और न ही चौकी इंचार्ज का। साथ ही एक टेबल पर पर पड़े कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज खुले में उड़ रहे हैं। सबसे हैरानी की बात यह है कि जब मौके पर पहुंच कर वहां लिखे चौकी इंचार्ज के नम्बर पर बात करने की कोशिश की गई तो जिस चौकी इंचार्ज का नम्बर वहां लिखा था उसका 6 महीने पहले ट्रांसफर हो चुका है। इसके साथ ही वहां के नेम प्लेट पर भी पुराने इंचार्ज का ही नाम है।

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’: आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

अब इस मामले में सवाल उठता है कि आखिर क्यों अभी तक चौकी से हटायें जा चुके चौकी इंचार्ज का नाम और नम्बर नए चौकी इंचार्ज के जगह दर्ज है। इस चौकी की बात की जाए तो लगता है कि यह किसी वीरान खंडहर से कम नहीं है। बरसात में तो यहां का परिसर पानी से लबालब भरा पड़ा रहता है। ऐसे में कैसे कोई अपनी परेशानी लेकर कहां जाएं।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: शिक्षक की मौत पर परिजनों ने घेरा थाना, BSA पर लगाया उत्‍पीड़न का आरोप

मौके पर जाने पर न किसी सिपाही की तैनाती और न ही दस्तावेज सुरक्षित रखने का रख- रखाव सुचारू रूप से दिख रहा है। प्रशासन के इस रवैये पर सवालों का घेरा पुरन्दरपुर थाने और वहां के थानेदार को ही घेरता नजर आ रहा है।













संबंधित समाचार