करुणानिधि के अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब, भगदड़ मचने से दो लोगों की मौत, 33 घायल

डीएन ब्यूरो

तमिलनाडु की राजनीति के अजेय योद्धा और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिये राजाजी हॉल में समर्थकों का भारी जन सैलाब उमड़ पड़ा है। इस दौरान वहां भगदड़ मचने से दो लोगों की मौत हो गयी जबकि 33 लोग घायल हो गये। पूरी खबर..

अंतिम यात्रा दर्शन को उमड़ा जनसैलाब

चेन्नई: तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि के पार्थिव शरीर को चेन्नई के राजाजी हॉल में रखा गया है। जहां उनके अंतिम दर्शन के लिये लोगों की भारी भीड़ उमड़ हुई है। तमिल की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले करुणानिधि को श्रद्धांजलि देने के लिये आस से खास सभी लोगों का तांता लगा हुआ है। राजाजी हॉल में का बाहर भगदड़ मचने से दो लोगों की मौत हो गयी जबकि 33 लोग घायल हो गये।

 

मरीना बीच पर उनके राजकीय सम्मान के साथ उनके अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू हो गयी है। इस मौके पर वहां भारी जन सैलाब उमड़ा हुआ है। 

 

यह भी पढ़ें: तमिल राजनीति के सबसे करिश्माई नेता भी थे एम करुणानिधि, जाने उनके जीवन से जुड़ी 10 खास बातें 

 

 

यह भी पढ़ें: मद्रास हाईकोर्ट का फैसला- मरीना बीच पर ही बनेगी एम करुणानिधि की समाधि 

अंतिम दर्शन के लिये उमड़ी भीड़ के कारण अचानक मचे भगदड़ में दो लोगों की मौत हो गयी और लगभग 33 लोग लोग घायल हो गये है। सुरक्षा बलों को भीड़ को काबू करने के लिये भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। मौके पर भारी पुलिस की तैनाती की गयी है। फिर भी करुणानिधि के समर्थकों और चहेतों को काबू करना मुश्किल हो रहा है।

 

मद्रास हाईकोर्ट के फैसले के बाद करुणानिधि की समाधि मरीना बीच पर बनाने का रास्ता साफ हो गया है। मरीना बीच पर समाधि के निर्माण का कार्य जोरों पर है। वहां भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये है। 

यह भी पढ़ें: DMK प्रमुख एम. करूणानिधि का 94 साल की उम्र में निधन, शोक में डूबा तमिलनाडु 

करुणानिधि के निधन के कारण तमिलनाडु सरकार द्वारा राज्य में बुधवार को सरकारी छुट्टी का ऐलान किया गया है। राज्य में 7 दिन का राजकीय शोक भी घोषित किया गया है। 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दोपहर दो बजे के आसपास राजाजी हाल पहुंचे, जहां उन्होंने करुणानिधि को श्रद्धांजलि दी औऱ उनके निधन पर शोत जताया।  

 

करूणानिधि को श्रद्धांजलि देने वालों में आम से खास सभी लोग पहुंचे। दोपहर को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी तमिल नेता के अंतिम दर्शन के लिये राजाजी हाल पहुंचे। उनके साथ आरजेडी के तेजस्वी यादव भी मौजूद रहे।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बुधवार सुबह करुणानिधि को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए राजाजी हॉल पहुंचे, जहां उन्होंने तमिल राजनीति के इस दिग्गज नेता को भावभिनी श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके निधन पर दुख जताया। पीएम मोदी के अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी करुणानिधि को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिये सुबह ही वहां पहुंच गयीं थीं। 

अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने एम करुणानिधि को राजाजी हॉल में अंतिम श्रद्धांजलि दी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन भी करुणानिधि को श्रद्धांजलि देने के लिये दोपहर को वहां पहुंचेगी।  

 

डीएमके के प्रमुख एम करूणानिधि का मंगलवार को शाम 6 बजकर 10 मिनट पर निधन हो गया था। वे 94 साल के थे। तमिल राजनीति के सबसे करिश्माई नेता रहे करूणानिधि को 28 जुलाई को तबियत ख़राब होने के बाद चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांसे ली। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार