मद्रास हाईकोर्ट का फैसला- मरीना बीच पर ही बनेगी एम करुणानिधि की समाधि

डीएन ब्यूरो

तमिल राजनीति के भीष्मपितामह कहे जाने वाले एम. करूणानिधी की समाधि को मरीना बीच पर बनाने के विवाद को मद्रास हाई कोर्ट ने सुलझा लिया है। पूरी खबर..

एम करूणानिधि के अंतिम दर्शन को उमड़ी भारी भीड़
एम करूणानिधि के अंतिम दर्शन को उमड़ी भारी भीड़

चेन्नई: द्रविड़ मुनेत्र कडगम (डीएमके) प्रमुख एम. करूणानिधी की समाधि मरीना बीच पर ही बनेगी। यह फैसला मद्रास हाई कोर्ट ने दिया है। हाई कोर्ट के फैसले से उनके समर्थकों में भारी खुशी है।

एम करूणानिधी के निधन के बाद डीएमके समर्थकों द्वारा तमिलनाडु के मरीना बीच में उनको दफनाने के लिए जगह देने की मांग की थी, लेकिन तमिलनाडु सरकार ने इससे इनकार कर दिया था। जिसके बाद डीएमके समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया और मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया। हाईकोर्ट ने इस मामले पर सुनाई करते हुए गुरूवार सुबह लगभग 11 बजे मरीना बीच पर करूणानिधी की समाधि बनाने कि इजाजत दे दी है।

यह भी पढ़ें: DMK प्रमुख एम. करूणानिधी का 94 साल की उम्र में निधन, शोक में डूबा तमिलनाडु 

इसके साथ ही मरीना बीच पर स्मारकों के निर्माण को चुनौती देने वाली याचिका को मद्रास हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। अब मरीना बीच पर ही करुणानिधी का अंतिम सस्कार किया जा सकेगा। मरीना बीच पर सुरक्षा के कड़े सुरक्षा प्रबंध किये गये हैं। वहां रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात किया गया है। 

94 साल की उम्र में करूणानिधी का निधन मंगलावार शाम को चेन्नई के कावैरी अस्पताल में हुआ था। उनके निधन से पूरे तमिलनाडु में शोक की लहर है। करूणानिधी के निधन के बाद तमिलनाडु में 7 दिनों का राजकीय शोक घोषित किया गया है। 

करुणानिधि पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिये राजाजी हॉल में रखा गया है, जहां उनके समर्थकों औऱ चाहने वालों की भारी भीड़ लगी है। कई दिग्गज उनको श्रद्धांजलि देने के लिये वहां पहुंच रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी करुणानिधि को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए राजाजी हॉल पहुंचे, जहां उन्होंने तमिल राजनीति के इस दिग्गज नेता को भावभिनी श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी दोपहर वहां पहुंचेंगे। अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने एम करुणानिधि को राजाजी हॉल में अंतिम श्रद्धांजलि दी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन भी करुणानिधि को श्रद्धांजलि देने के लिये दोपहर को वहां पहुंचेगी।  

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार