महराजगंज: ठूठीबारी इलाके में बाढ़ का कहर, चंदन नदी का बांध टूटा, पुलिस चौकी सहित आधा दर्जन गांवो में घुसा पानी

डीएन ब्यूरो

पिछले साल की तरह इस बार भी जिले में बाढ़ ने दस्तक दे दी है। लक्ष्मीपुर भुजहवा में चन्दन नदी का बांध टूटने से नदी का पानी करीब आधा दर्जन गांवो में घुस गया है। लक्ष्मीपुर पुलिस चौकी में बाढ़ का पानी घुसने से चारों तरफ आफत मच गयी है। इलाके में भदगड़ मच गई है और नेता से लेकर प्रशासनिक अफसर तमाशबीन बने हुए हैं। लोगों में नाराजगी बढ़ रही है और सुरक्षित स्थानों की तलाश में पीड़ित भटक रहे हैं। पूरी खबर..

बाढ़ में डूबी लक्ष्मीपुर पुलिस चौकी
बाढ़ में डूबी लक्ष्मीपुर पुलिस चौकी

महराजगंज: नेपाल की पहाड़ियों में पिछले चार दिनों से लगातार हो रही बारिश से बहराइच, बलरामपुर, सिद्दार्थनगर में बाढ़ का कहर बरप रहा है। अब यह बाढ़ महराजगंज जिले की सीमा को बुरी तरह प्रभावित कर रही है। 

पिछले साल जिले में जिस तरह बाढ़ ने तांडव मचाया था उसको याद कर जिले के लोग परेशान हैं। नेताओं व अफसरों की लापरवाही चरम पर है। आम जनता को भाग्य भरोसे छोड़ दिया गया है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: प्रेमी-प्रेमिका का बीच सड़क पर हाईवोल्टेज ड्रामा, पहुंची पुलिस

 

 

डाइनामाइट न्यूज़ की इन्वेस्टिगेटिव टीम ने ठूठीबारी इलाके के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का जब दौरा किया तो देखा कि हालात काफी भयावह हैं।

ठूठीबारी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली लक्ष्मीपुर पुलिस चौकी में बाढ़ का पानी बुरी तरह बह रहा है। न कोई अंदर आ सकता है और न कोई बाहर जा सकता है। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: सड़क न बनने से नाराज ग्रामीणों ने मार्ग पर की धान की रोपाई

 

 

लक्ष्मीपुर भुजहवा में चन्दन नदी का बांध टूटने से नदी का पानी करीब आधा दर्जन गांवो में घुस गया है और लाखों की संपत्तियां बर्बाद हो गयी हैं। बकुलडीहा, लक्ष्मीपुर, इटहिया मार्ग पर पानी सड़क के ऊपर से चल रहा है। लक्ष्मीपुर, बकुलडीहा जैसे गांव पूरी तरह जलमग्न हो गये हैं।

बाढ़ आने के बाद इलाके में भदगड़ मच गई है और लोग सुरक्षित स्थानों की तलाश में जुट गए। सबसे बुरा हाल मवेशियों का हो गया है। 

हर तरफ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है। बाढ़ से हालात गंभीर होते देख निचलौल तहसील प्रशासन ने राहत एवं बचाव कार्य शुरु तो कराया है लेकिन यह ऊंट के मुंह में जीरे के समान है।स्वास्थ्य विभाग के कैंप और दवाओं का वितरण जरुर दिख रहा है।

इटहिया मार्ग पर भी बाढ़ का पानी बह रहा है। 

चंदन नदी के तेज बहाव से भरवलिया, बोदना, सुकरहर मार्ग बाधित हो गया है। इसके साथ ही नदी के किनारे सैकड़ों एकड़ खेत बाढ़ के पानी में डूब गये हैं। 

(महराजगंज जिले की बाढ़ से जुड़ी पल-पल की खबर के लिए 9999 450 888 पर मिस्ड काल कर अथवा इस लिंक पर 

https://hindi.dynamitenews.com/mobile  क्लिक कर नि:शुल्क मोबाइल एप डाउनलोड करें)













संबंधित समाचार