भीलवाड़ा जिले में बाढ़ का कहर, घरों में घुसा पानी, जन-जीवन अस्त-व्यस्त

संजय लढ़ा

राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के विभिन्न इलाकों में बारिश आफत बनकर आयी है। लोगों के घरों में पानी कहर बनकर परेशान कर रहा है। घरों में पानी घुसने से ग्रामीण परेशान हैं। डाइनामाइट न्यूज़ विशेष..


भीलवाड़ा: जहाज़पुर इलाके में साढ़े चार इंच से अधिक बरसात दर्ज की गई है। सिंचाई विभाग के मुताबिक सुबह 8 बजे तक 118 mm बरसात पिछले 24 घण्टों में दर्ज की गई है। पंडेर के मकानों में पानी घुस गया है। इलाके में बरसात का दौर जारी है। बांध तालाब में पानी की लगातार आवक हो रही है।

बरदपुरा बांध में ढाई फ़ीट पानी की आवक हुई तो नागदी बांध में पानी की लगातार आवक हो रही है। कई सरकारी भवनों से पानी से टपकने लगा है।

पूरे वेग के साथ बह रही है बनास नदी

जहाज़पुर की जीवन संगिनी बनास नदी भी पूरे वेग के साथ बह रही है। रविवार होने से नदी के बहते पानी को देखने के लिए लोगों का मजमा लगा है, उधर बिहाड़ा की पुलिया पर दो दिनों से 2 से 3 फ़ीट पानी होने से इस गाँव का रास्ता बंद है। श्रंगार चवरी गाँव मे एक कच्चा मकान ढह गया हालांकि कोई जनहानि नही हुई है। लगातार हो रही बारिश के चलते पन्डेर ग्राम के घरों में पानी घुस गया है। जिससे लोगों को खाना बनाने सोने बैठने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। रात से ही पानी घुसने के साथ ही लोगों को राहत नहीं मिल पाई है ग्राम पंचायत की तरफ से वैसे सुबह से ही राहत अभियान चालू किया गया है जिसमें जेसीबी लगाकर अवरुद्ध हो रहे पानी की निकासी की जा रही है।

मदनपुरा गांव में एक महिला की मौत 

डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता के मुताबिक भीलवाड़ा जिले के रूपपुरा ग्राम पंचायत के मदनपुरा गांव में शनिवार को सुबह बारिश के कारण एक मकान ढह गया इस घटना में एक महिला की मौत हो गई जबकि एक बालक गंभीर रूप से घायल हो गया। इसी प्रकार सगतपुरिया में भी एक मकान ढह गया तथा आयुर्वेद औषधालय की एक पट्टी टुट कर गिर पड़ी पर कोई हादसा नहीं हुआ है।

स्थानीय पुलिस ने बताया कि शुक्रवार देर रात से जारी तेज बरसात के कारण शनिवार तड़के करीब 6 बजे मदनपुरा गाँव में पुराना मकान ढह गया। जिसमें कोयली देवी खारोल नामक महिला की मौत हो गई जबकि उसका बेटा गम्भीर रूप से घायल हो गया जिसे जिला अस्पताल ले जाया गया है।

जिले में शुक्रवार रात 12 बजे से मानसून ने दस्तक देते हुए सर्वत्र जिले को तर-बतर कर दिया है। वर्षा के कारण चार स्थानों पर सड़कों पर पानी आ जाने से राज्य मार्ग बाधित हो गये है। जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने सम्पूर्ण जिले में अधिकारियों को अलर्ट रहने और राहत और बचाव कार्यों पर निगरानी रखने के निर्देश दिए हैं।

मांडलगढ़ का हाल 

डाइनामाइट न्यूज़ के मांडलगढ़ संवाददाता के मुताबिक मांडलगढ़ उपखंड क्षेत्र के मानपुरा उंवली नदी में पानी की आवक शुरू हो गई है वही मानपुरा कस्बे के मध्य के बीच में छोटी पुलिया पर पानी निकलने से आवागमन रुक गया है वहीं छोटी पुलिया के पास ही बड़ी पुलिया है जिससे वाहन गुजर रहे हैं वहीं पानी की तेज रफ्तार को देखने के लिए मानपुरा सहित आसपास के गांवों के ग्रामीण पुलिया के पास पहुंच रहे हैं। जेतपुरा बांध से निकल रही उंवली नदी में पानी की आवक होने से तेज रफ्तार से निकल रहा पानी बनास नदी में मिलता है त्रिवेणी के निकट।

वहीं काछोला कस्बे के प्रताप सागर तालाब में भी पानी की आवक शुरू हो गई है जिसे देखने के लिए ग्रामीण बड़ी तादात में काछोला प्रताप सागर तालाब की पाल पर पहुंच रहे हैं। मांडलगढ़ उपखंड क्षेत्र का सबसे बड़ा तालाब काछोला प्रताप सागर तालाब है काछोला के आस-पास के गांव में अच्छी बारिश होने से पानी की आवक शुरू हो गई है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार