बेंगलुरु टेस्ट: आस्ट्रेलिया को 188 रनों का लक्ष्य

डीएन संवाददाता

चेतेश्वर पुजारा (92) और अजिंक्य रहाणे (52) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत ने एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन मंगलवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी दूसरी पारी में 274 रन बनाए और मेहमान टीम के सामने 188 रनों का लक्ष्य रखा।

 ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम

बेंगलुरु: चेतेश्वर पुजारा (92) और अजिंक्य रहाणे (52) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत भारत ने एम.चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन मंगलवार को आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी दूसरी पारी में 274 रन बनाए और मेहमान टीम के सामने 188 रनों का लक्ष्य रखा। ईशांत शर्मा (6) के रूप में भारत का आखिरी विकेट गिरा और इसी के साथ भोजनकाल की घोषणा कर दी गई। पुजारा और रहाणे के अलावा सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने 51 रन बनाए।

तीसरे दिन सोमवार को भारत ने स्टम्प्स तक चार विकेट के नुकसान पर 213 रन बनाए थे। जोश हाजलेवुड ने अकेले ही भारत के तीन विकेट गिराए थे, वहीं चौथे दिन मंगलवार को भारतीय पारी को समेटने में हाजलेवुड ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने तीन और विकेट लेकर मेजबान टीम की दूसरी पारी का अंत किया। इसमें मिशेल स्टार्क ने उनका बखूबी साथ दिया। स्टार्क ने दो और स्टीव ओकीफ ने दो विकेट लिए।

अपने पिछले दिन के स्कोर से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने मंगलवार को अपने खाते में 61 रन जोड़े। सोमवार को नाबाद रहे अजिंक्य रहाणे (52) और चेतेश्वर पुजारा (92) ने पांचवें विकेट के लिए 118 रनों की बेहतरीन शतकीय साझेदारी कर उसे मजबूत स्थिति में पहुंचाया।

भारत की मैच में वापसी कराने वाली पुजारा और रहाणे की जोड़ी ने चौथे दिन की उसी अंदाज में बल्लेबाजी शुरू की, जिस अंदाज में तीसरे दिन खत्म की थी। दोनों ने चौथे दिन आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को परेशान किया। स्टीवन स्मिथ के चेहरे पर शिकन साफ दिख रही थी। उनके पास नई गेंद लेने का मौका था, जिसे उन्होंने जाया नहीं किया।

81वें ओवर में उन्होंने नई गेंद ली। यहां से मिशेल स्टार्क और जोस हाजलेवुड ने रहाणे और पुजारा को नई गेंद से काफी परेशान किया। यहां से आस्ट्रेलिया ने वापसी की और नौ गेंदों में मेजबानों के चार विकेट लिए।

85वें ओवर की तीसरी गेंद पर स्टार्क की फुल लेंथ गेंद रहाणे के पैड पर जा लगी। आस्ट्रेलिया ने पगबाधा की अपील की, लेकिन अंपायर नाइजल लॉन्ग ने इसे नकार दिया। स्मिथ ने रिव्यू लिया और रहाणे पवेलियन लौटे। उन्होंने अपनी पारी में 134 गेंदों का सामना किया और चार चौके लगाए।

स्टार्क ने अगली गेंद पर करुण नायर को खाता भी नहीं खोलने दिया। स्टार्क की गेंद नायर के बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर विकेटों पर जा लगी। रहाणे और नायर के विकेट 238 के कुल योग पर गिरे। अगली गेंद पर रिद्धिमान साहा (नाबाद 20) ने स्टार्क की हैट्ट्रिक रोकी।

 


पुजारा ने हाजलेवुड के अगले ओवर में चौका मारा, लेकिन हाजलेवुड ने अगली गेंद पर पुजारा को चौंकाते हुए बाउंसर मारी और गेंद पुजारा के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर गली में खड़ी मिशेल मार्श के हाथों में जा समाई। पुजारा अपने टेस्ट करियर में पहली बार 'नाइनटीस' में आउट हुए। इस समय भारत का स्कोर 242 था।

रविचंद्रन अश्विन (4) ने इसी ओवर में चौका मारा, लेकिन अगली गेंद नीची रहते हुए उनके विकेट उखाड़ ले गई। उमेश यादव (1) खराब शॉट खेलकर आउट हुए।

दूसरे छोर पर खड़े साहा को अंत में ईशांत का साथ मिला और भारत के लिए दोनों ने 10वें विकेट के लिए 16 रन जोड़े। ओकीफ ने ईशांत को शॉन मार्श के हाथों कैच करा भारतीय पारी का अंत किया।

इससे पहले आस्ट्रेलिया ने भारत को पहली पारी में 189 रनों पर समेट दिया था और अपनी पहली पारी में 276 रन बनाते हुए 87 रनों की बढ़त ले ली थी। मेजबानों को समेटने में नाथन लॉयन के आठ विकटों की अहम भूमिका रही थी। राहुल वे पहली पारी में भी 90 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली थी।

आस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में शॉन मार्श ने 66 और मैट रेनशॉ ने 60 रन बनाए थे। (
आईएएनएस)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …