शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों को हटाने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आगामी सात फरवरी को करेगा सुनवाई

डीएन ब्यूरो

उच्चतम न्यायालय राजधानी के शाहीन बाग में चल रहे धरना प्रदर्शन को हटाने संबंधी याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा।

शाहीन बाग में धरना प्रदर्शन करते लोग (फाइल फोटो)
शाहीन बाग में धरना प्रदर्शन करते लोग (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय राजधानी के शाहीन बाग में चल रहे धरना प्रदर्शन को हटाने संबंधी याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। याचिकाकर्ता नंद किशोर गर्ग ने मामले की त्वरित सुनवाई के लिए कल मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष मामले का विशेष उल्लेख किया था, जिसने याचिकाकर्ता को मेंशनिंग रजिस्ट्रार के समक्ष जाने को कहा था।

 शाहीन बाग में धरने पर बैठे हजारों लोग (फाइल फोटो)

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट का मराठा आरक्षण पर रोक लगाने से इनकार, महाराष्ट्र सरकार को बड़ी राहत

गर्ग के रजिस्ट्रार के समक्ष विशेष उल्लेख करने के बाद याचिका की सुनवाई के लिए अब सात फरवरी को सुनवाई के लिए शुक्रवार की तारीख मुकर्रर की गयी है। बेंच की घोषणा बाद में की जायेगी। याचिका में मांग की गयी है कि शाहीनबाग में जारी प्रदर्शन को हटाया जाए, ताकि कालिंदी कुंज और शाहीनबाग का रास्ता फिर से खुल सके। इसके लिए न्यायालय केंद्र सरकार और संबंधित विभाग को आदेश दे।

यह भी पढ़ें: अभी-अभी दिल्ली के शाहीन बाग में CAA के विरोध में चल रहे धरने में एक युवक ने चलायी गोली, पुलिस वालों ने युवक को दबोचा

याचिका में यह भी मांग की गई है कि सार्वजनिक स्थलों पर धरना प्रदर्शन को प्रतिबंधित करने के लिए न्यायालय केंद्र सरकार को दिशानिर्देश जारी करने का आदेश दे।
कालिंदी कुंज-शाहीन बाग मार्ग बंद होने से यात्रियों के लिए होने वाली बड़ी असुविधा का हवाला देते हुए याचिका में कहा गया है कि लोग डीएनडी फ्लाईओवर और आश्रम जैसे वैकल्पिक मार्गों से यात्रा करने को मजबूर हैं, जिसके कारण यात्रियों का बहुमूल्य समय और ईंधन की बर्बादी हो रही है। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार