भारत को हराकर ऑस्ट्रेलिया ने जीता त्रिकोणीय खिताब

डीएन ब्यूरो

ओपनर स्मृति मंधाना की 66 रन की आतिशी पारी के बावजूद भारत को मेजबान ऑस्ट्रेलिया के हाथों त्रिकोणीय महिला टी-20 सीरीज के खिताबी मुकाबले में बुधवार को 11 रन नजदीकी हार का सामना करना पड़ा।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

मेलबोर्न: ओपनर स्मृति मंधाना की 66 रन की आतिशी पारी के बावजूद भारत को मेजबान ऑस्ट्रेलिया के हाथों त्रिकोणीय महिला टी-20 सीरीज के खिताबी मुकाबले में बुधवार को 11 रन नजदीकी हार का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ेंः IND vs NZ-भारत ने गंवाई सीरीज, न्यूजीलैंड के ये खिलाड़ी भारतीय टीम पर पड़े भारी

ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवर में छह विकेट पर 155 रन बनाने के बाद भारतीय टीम को 20 ओवर में 144 रन पर आउट कर खिताब अपने नाम कर लिया। मंधाना को छोड़कर अन्य कोई भारतीय बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सकी। मंधाना ने 37 गेंदों में पर 12 चौके उड़ाते में हुए 66 रन की आतिशी पारी खेली। वह 15वें ओवर में चौथे बल्लेबाज के रुप में 115 के स्कोर पर आउट हुईं। लेकिन इसके बाद की बल्लेबाज लेफ्ट आर्म स्पिनर जैस जोनासन के सामने समर्पण कर गयी। जोनासन ने चार ओवर में मात्र 12 रन पर पांच विकेट लेकर भारत के मध्य और निचले क्रम को ध्वस्त कर दिया।
यह भी पढ़ेंः NZ vs IND- जानिए न्यूजीलैंड से मिली हार के बाद क्या बोले विराट कोहली.. 

जोनासन ने आखिरी छह में से पांच विकेट झटके। उन्हें इस प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। ऑस्ट्रेलिया की पारी में नाबाद 71 रन बनाने वाली ओपनर बेथ मूनी को प्लेयर ऑफ द सीरीज का पुरस्कार दिया गया। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने 15 साल की युवा ओपनर शेफाली वर्मा को जल्द ही गंवा दिया। शेफाली ने नौ गेंदों में एक चौके और एक छक्के के सहारे 10 रन बनाए। उनका विकेट 11 के स्कोर पर गिरा। टायला व्लेमिंक ने शेफाली का विकेट लिया।

यह भी पढ़ें: Sports आचार संहिता का उल्लंघन करते दोषी पाए गए खिलाड़ी, मिली ये सजा

मंधाना और रिचा घोष ने दूसरे विकेट के लिए 43 रन जोड़े। लेकिन रिचा टीम के 54 और उसके बाद जेमिमा रॉड्रिग्स 65 के स्कोर पर आउट हो गयीं। रिचा ने 23 गेंदों में दो चौकों के सहारे 17 रन और जेमिमा ने दो रन बनाए। अनाबेल सदरलैंड ने जेमिमा का और व्लेमिंक ने जेमिमा का विकेट लिया। मंधाना और कप्तान हरमनप्रीत कौर ने चौथे विकेट के लिए 50 रन जोड़कर भारत के लिए जीत की उम्मीदें जगा दीं। लेकिन तीन रन के अंतराल में मंधाना और हरमनप्रीत के विकेट गिरने से भारत की उम्मीदें ध्वस्त हो गयीं। मंधाना को मेगन शट ने आउट किया जबकि जोनासन ने हरमनप्रीत को पगबाधा कर दिया। हरमनप्रीत ने 16 गेंदों पर 14 रन में दो चौके लगाए।

जोनासन ने हरमनप्रीत को आउट करने के दो गेंद बाद ही अरुंधति रेड्डी को भी आउट कर दिया। भारत का स्कोर एक झटके में छह विकेट पर 118 रन हो गया। जोनासन ने फिर राधा यादव (2), तानिया भाटिया (11) और दीप्ति शर्मा (10) के विकेट लेकर भारतीय पारी समेट दी। शिखा पांडे (4) को एलिस पैरी ने आउट किया।
ऑस्ट्रेलिया की तरफ से जोनासन के पांच विकेट के अलावा व्लेमिंक ने 32 रन पर दो विकेट, पैरी ने 19 रन पर एक विकेट, शट ने 28 रन पर एक विकेट और सदरलैंड ने 21 रन पर एक विकेट लिया।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की पारी में ओपनर मूनी ने 54 गेंदों में नौ चौकों की मदद से नाबाद 71 रन बनाकर अपनी टीम की पारी को संभाले रखा और उसे मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। मूनी ने एलिसा हिली (4) का विकेट चार के स्कोर पर पहले ओवर में गिरने के बाद एश्ले गार्डनर (26) के साथ दूसरे विकेट के लिए 52 रन और कप्तान मेग लेनिंग (26) के साथ तीसरे विकेट के लिए 51 रन जोड़े। भारत ने वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के पांच विकेट 121 रन तक गिरा दिए थे। लेकिन मूनी ने रैचेल हेंस (18) के साथ छठे विकेट के लिए मात्र 13 गेंदों में 30 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया को 155 तक पहुंचा दिया। यह साझेदारी अंत में परिणाम के लिहाज से महत्वपूर्ण साबित हुई।

हेंस ने सात गेंदों पर 18 रन की पारी में दो चौके और एक छक्के लगाया। हेंस ने राजेश्वरी गायकवाड के पारी के आखिरी ओवर में तीसरी और चौथी गेंद पर चौका और छक्का लगाया जबकि मूनी ने पहली और आखिरी गेंद पर चौके लगाए। इस ओवर में 19 रन पड़े जो मैच में निर्णायक साबित हुए। भारत की तरफ से दीप्ति ने 30 रन पर दो विकेट गायकवाड ने 32 रन पर दो विकेट राधा यादव ने 35 रन पर एक विकेट और अरुंधति ने 31 रन पर एक विकेट लिया। (वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार