30 जून आधी रात को राष्ट्रपति करेंगे GST लॉन्च, होगा खास कार्यक्रम

डीएन संवाददाता

जीएसटी लागू करने के लिए सरकार ने 30 जून को पार्लियामेंट का स्पेशल सेशन बुलाया है। 30 जून की रात करीब 11 बजे यह सेशन पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में होगा।

वित्त मंत्री अरूण जेटली
वित्त मंत्री अरूण जेटली

नई दिल्ली: गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) को 1 जुलाई से लागू करने की तैयारियां पूरी हो रही हैं। एक जुलाई से पूरे देश में जीएसटी लागू हो जाएगा। मंगलवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि 30 जून की रात 12 बजे से GST लागू हो जाएगा।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी करेंगे GST लॉन्च

जीएसटी को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लॉन्च करेंगे। इस दौरान सेंट्रल हॉल में विशेष कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा। वित्त मंत्री जेटली ने बताया कि 30 जून को होने वाले इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और दो पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवेगौड़ा को भी न्योता दिया गया है। वहीं कार्यक्रम में सभी सांसद, सभी राज्य सरकारों के वित्त मंत्री भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें: GST लागू होने के बाद LPG गैस के साथ साथ अन्य घरेलू वस्तुएं होंगी सस्ती

पहली बार आधी रात को  बुलाया गया संसद का सत्र

जेटली ने कहा, ‘’जीएसटी का जीडीपी पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के लिए प्रक्रिया चल रही है। जीएसटी लागू करने के लिए सारे फैसले सर्वसम्मति से किए गए हैं। देश में ऐसा पहली बार होगा जब किसी कानून को लागू करने के लिए आधी रात को संसद का सत्र बुलाया जाएगा। एक जुलाई को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में जीएसटी के लागू होने से जुड़े दूसरे जरूरी ऐलान भी किए जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: संसद सत्र से पहले बोले पीएम मोदी- उम्मीद है जीएसटी का रास्ता साफ होगा

क्या है जीएसटी?

वस्तु एवं सेवा कर (GST) एकीकृत कर प्रणाली है। इसमें सभी अप्रत्यक्ष कर को मिला दिया गया है। अब हर राज्य में अलग-अलग कर नहीं लगेगा बल्कि देशभर के लिए एक कर होगा। एक कर होने से कर के ऊपर कर नहीं चुकाना पड़ेगा। इससे वस्तु और सेवाएं सस्ती होने की उम्मीद है। इसके तहत कर की चार श्रेणी रखी गई हैं, इसमें 5 फीसदी,12 फीसदी, 18 फीसदी और 28 फीसदी है। सरकार का आकलन है कि जीएसटी लागू होने के बाद खुदरा महंगाई दो फीसदी तक घट सकती है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार