अमेठी: शासन सख्‍त पुलिस सुस्‍त, बदमाश धड़ाधड़ दे रहे लूट की घटनाओं को अंजाम

डीएन ब्यूरो

अमेठी जिले में ताबड़तोड़ लूट की घटनाएं हो रही हैं पुलिस न तो एक घटना का खुलासा कर पा रही है न ही ऐसी घटनाओं को रोक पाने में सक्षम दिख रही है। शासन सख्‍ती कर रहा है लेकिन अमेठी पुलसि की सुस्‍ती नहीं दूर हो रही है। डाइनामाइट न्‍यूज़ पर कानून व्‍यवस्‍था को लेकर पढ़ें विशेष खबर..

अमेठी पुलिस अधीक्षक कार्यालय (फाइल फोटो)
अमेठी पुलिस अधीक्षक कार्यालय (फाइल फोटो)

अमेठी: शासन की ओर से पुलिस प्रशासन को क्षेत्र में सख्‍ती बरतती हुए अपराधियों पर लगाम लगाने के दिशा निर्देश है। जबकि अमेठी पुलिस की सुस्‍ती के कारण कार्यशैली पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। 

यह भी पढ़ें: चार नामी आईएएस टॉपर्स देंगे नौजवानों को आईएएस की परीक्षा में सफल होने का मूलमंत्र

बीते सप्ताह मंगलवार को कमरौली के कठौरा में निर्माणाधीन राजकीय महिला डिग्री कालेज के सुपरवाइजर को बंधक बनाकर लाखों की सरिया लूट ली गई थी। वहीं जुलाई माह में कोतवाली क्षेत्र के कादूनाला स्थित एनएचआई निर्माण के कैम्प कार्यालय से हुई लाखों की सरिया लूट की घटना हुई थी। दोनों मामलों नामजद रिपोर्ट के बाद भी पुलिस महीने भर बाद भी पुलिस खाली हाथ है। जिसको लेकर पुलिस लोगों के बीच अपना विश्‍वास खोती जा रही है। 

सरिया लूट के पकड़े गए दो आरोपी 

सरिया लूट का सिलसिला 16 जुलाई को कादूनाला स्थित एनएचआई निर्माण कैम्प कार्यालय से शुरू हुआ था। जिसमें आधा दर्जन से अधिक हथियारबंद बदमाशों ने डीवीएल कर्मियों को बंधक बनाकर लाखों की सरिया लूट लिया गया था। पुलिस ने तीन लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज किया था। हालांकि एक माह बीत जाने के बाद तक गिरफ्तारी तो दूर सरिया को बरामद भी नहीं किया जा सका है। वहीं पुलिस अभी मामले की जांच चलने की बात कह रही है।

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’ आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

वहीं दूसरी घटना में जाफरगंज कृषि उत्पादन मंडी से 25 टन महुआ ट्रक से कहीं भेजा जा रहा था। इस दौरान ट्रक वहां नहीं पहुंचा जहां भेजा गया था। इस पर ट्रांसपोर्टर दिलशाद निवासी सुल्‍तानपुर ने ट्रक की खोजबीन की तो लूट का पता चला। इस मामले में भी कोतवाली में चार लोगों को नामजद कर रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। दो लोगों की गिरफ्तारी की गई। हालांकि बाकी अभी भी पुलिस के शिकंजे से दूर हैं। सरिया का भी अभी तक पता नहीं लग पाया है।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …