नई दिल्ली: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का ज़हरीली शराब से हुई मौतों पर बड़ा बयान

डीएन ब्यूरो

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को नई दिल्ली स्थित अपने सरकारी आवास पर मीडिया से बातचीत में यूपी की योगी सरकार को जहरीली शराब के मुद्दे पर घेरा। उन्होंने कहा यदि सरकार गरीब लोगों की जान नही बचा सकती तो उन्हें सत्ता छोड़कर चले जाना चाहिये। श्री यादव यह भी कहा कि सरकार हर मृतक के परिवार वालों को 20-20 लाख की सहायता तत्काल दे। डाइनामाइट न्यूज़ की इस रिपोर्ट में देखें अखिलेश यादव ने और क्या-क्या कहा..


नई दिल्ली: जहरीली शराब ने कई परिवारों चिराग बुझा दिए हैं। अब तक यूपी और उत्तराखंड में जहरीली शराब से सौ से अधिक गरीबों की मौत हो चुकी है। जहरीली शराब कांड पर समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने राजधानी दिल्ली में पत्रकारों से कहा कि मौत की खबर बेहद पीड़ादायक है।

बड़ी बातें:

अखिलेश का हमला- लोगों की जान नहीं बचा सकते तो गद्दी त्याग दे सरकार
उन्होंने कहा कि यह सरकार की लापरवाही का नतीजा है। सरकार को बहाने बनाने के बजाए एक्शन लेना चाहिए। कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान के इस बयान- “सरकार कहां-कहां जान बचाएगी” की उन्होंने कड़ी निंदा की और कहा कि यदि सरकार लोगों की जान नहीं बचा सकती तो उसे गद्दी त्याग देनी चाहिए।

विपक्ष के चेताने के बावजूद भी नहीं जागी सरकार
उन्होंने बीजेपी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इतना बड़ा अवैध शराब का कारोबार सरकार की मदद के बिना नहीं चल सकता। उत्तराखंड और यूपी में बीजेपी की सरकार है लेकिन इसके बावजूद भी सरकार जहरीली शराब से होने वाली मौतों को रोक नहीं पा रही है। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने बीजेपी सरकार को कई दफा चेताया लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया।

यह भी पढ़ें: यूपी बजट 2019: योगी सरकार के बजट को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया जनता के साथ धोखा

सरकार की मदद के बिना नहीं चल सकता यह कारोबार
उन्होंने कहा कि सरकार को विपक्ष पर दोष डालने की बजाए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इसमें उनकी ही सरकार के लोग शामिल हैं। सरकार कोई कार्रवाई करने की बजाए लगातार विपक्ष पर निशाना साध रही है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि सरकार का कहना है कि समाजवादी पार्टी के लोग यह अवैध धंधा कर रहे हैं, लेकिन मुझे लगता है कि उनकी सरकार के लोग ही इसमें शामिल हैं। इसीलिए सरकार ठीक से कार्रवाई नहीं कर रही है।  

अपने लोगों की जांच कराए सरकार
उन्होंने कहा कि सरकार को इस संभावना की ओर भी ध्यान देना चाहिए कि हो सकता है उनके लोग ही इस जहरीली शराब के कारोबार में शामिल हों। आखिर देश में जगह- जगह उन्हीं की सरकार है उसके बावजूद भी जहरीली शराब का यह कारोबार बड़ी आसानी से चल रहा है। कैबिनेट मंत्री ने बहाना बनाते हुए जिस तरह का बयान दिया है उससे यह कुछ हद तक स्पष्ट भी होता है। सरकार को अपने लोगों की जांच करानी चाहिए ताकि असली दोषी सामने आएं। 

यह भी पढ़ें: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ में की प्रेस वार्ता, जानें बड़ी बातें..

हरदोई का मामला उठाया
सपा अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी सरकार को उसी वक्त होश में आ जाना चाहिए था जब हरदोई में खाने के पैकेट में लोगों को शराब बांटी थी। यह वह मामला था जहां बच्चों तक को शराब दी गई थी। इस घटना के बाद ही यदि प्रशासन जाग जाता तो इतनी मौतें न होतीं।

पीडितों के लिए की मुआवजे की मांग
उन्होंने पीड़ितों के लिए सरकार से मुआवजे की मांग की है। उनका कहना है कि सरकार की ओर से मृतकों के परिवारों को 20-20 लाख का मुआवजा दिया जाए। 

गठबंधन को बताया आम जन का गठबंधन
सपा-बसपा के गठबंधन पर बोलते हुए उन्होंने इसे आम जनता का गठबंधन कहा है। उन्होंने कहा कि यह समान विचारों का गठबंधन है।  

बीजेपी के गलत कामों को रोकना होगा
सपा मुखिया ने कहा कि यूपी की जनता जानती है कि योगी सरकार ने आम जनता को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ने बीजेपी के गलत कामों का हमेशा विरोध किया है। महागठबंधन की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कांग्रेस को नसीहत देते हुए कहा कि यह समय दल बनाने का नहीं बल्कि बीजेपी के गलत कामों को रोकने का है।

प्रियंका गांधी के सवाल पर यह बोला
सपा मुखिया ने कहा कि राजनीति में नये लोगों को आना चाहिये तभी देश आगे बढ़ेगा। रही बात किसे के प्रभाव की तो यह जनता तय करेगी।

    

   
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …