यूपी बजट 2019: योगी सरकार के बजट को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया जनता के साथ धोखा

डीएन संवाददाता

यूपी सरकार ने आज विधानसभा में अपना तीसरा बजट पेश किया। लोकसभा चुनाव से पहले आए इस बजट को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जनता के साथ धोखा बताया हैं। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में पढें क्या कहा सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने..


लखनऊ: आज यूपी सरकार ने सदन में अपना तीसरा बजट पेश किया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यूपी सरकार द्वारा पेश किए गए इस बजट को निराशाजनक और आम आदमी के लिए महत्वहीन बताते हुए जनता के साथ धोखा बताया है। उन्होंने यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार की नीयत में खोट है। 

यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश विधानसभा में हंगामा, सीएम योगी ने विपक्ष के आचरण को बताया गैर जिम्मेदाराना..

इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर गंभीर नहीं है सरकार

उन्होने कहा कि सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर गंभीर नहीं है, यही वजह है कि सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में नए स्कूल, कॉलेजों, सड़कों व उद्योगों के लिए बजट का कोई प्रावधान नहीं किया गया है। वहीं गौ संरक्षण के लिए जो 42 हजार रुपये की राशि गांव को दी गई है वह भी काफी नहीं है। 

यह भी पढ़ें: यूपी सरकार के 40 लाख कर्मचारियों की आज से ‘महा हड़ताल’, धारा 144 लागू

गंदी नीयत से गंगा नहीं होगी साफ

गंगा सफाई पर बोलते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि जब तक सरकार की नीयत साफ नहीं होगी, तब तक गंगा- गोमती जैसी नदियों की सफाई की बात करना महज छलावा है।

अवैध खनन मामलों की हो सीबीआई जांच

सीबीआई और ईडी जैसी संस्थाओं के दुरुपयोग को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि बांदा में अभी भी भाजपा के नेता अवैध तरीके से खनन का काम करने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को इन लोगों की भी सीबीआई से जांच करानी चाहिए।

सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार समाया हुआ है-अखिलेश यादव 

सपा सुप्रीमो ने अफ़सरशाही में व्याप्त भ्रष्टाचार पर भी सवाल उठाए। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लखनऊ में एक ही व्यक्ति को दो-दो आवास दिए जाने पर बोलते हुए कहा कि सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार समाया हुआ है, जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार को खत्म करने की बातें कर रहे हैं।


 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या आपको लगता है जनता के असली मुद्दों को लेकर मोदी और राहुल के बीच आमने-सामने की डिबेट होनी चाहिये?

हां
80.95%
नहीं
19.05%