महराजगंज: डीएम की सख्ती से दुर्गा मंदिर की जमीन पर अवैध कब्जे की कोशिश करने वाले दबंगों के मंसूबे हुए ध्वस्त

डीएन ब्यूरो

जनपद मुख्यालय के ऐतिहासिक श्री दुर्गा मंदिर की जमीन पर कल कुछ दबंग अवैध कब्जा करना चाहते थे लेकिन जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार की सख्ती के बाद इनके नापाक मंसूबे कामयाब नहीं हो पाये। उप जिलाधिकारी सदर आरबी सिंह के नेतृत्व में भारी पुलिस फोर्स व राजस्व की टीम ने मौके पर पहुंच अवैध कब्जा करने वालों पर कस कर नकेल कसी। डाइनामाइट न्यूज़ एक्सक्लूसिव:


महराजगंज: श्री दुर्गा मंदिर के जमीन पर अवैध कब्जा करने का मंसूबा पाले दबंगों को जिला प्रशासन के सख्त तेवरों से मुंह की खानी पड़ी है। शुक्रवार को मंदिर की जमीन पर एक व्यक्ति द्वारा अपने घर के पीछे से रास्ता निकालकर कब्जा करने की कोशिश की गयी। जब मौके पर मंदिर के पूजारी ने रोकने का प्रयास किया तो पूजारी को फावड़े से काटने का प्रयास हुआ। किसी तरह स्थानीय लोगों की मदद से पूजारी की जान बची। 

यह भी पढ़ेंः महराजगंज चौकी इंचार्ज की शह पर दबंगों ने की दुर्गा मंदिर की जमीन कब्जाने की कोशिश, रोकने गये पूजारी को फावड़े से काटने का प्रयास

बैरिकेंटिंग लगा कर जिला प्रशासन ने कराई पूर्व की स्थिति बहाल

यह खबर जब डाइनामाइट न्यूज़ पर प्रकाशित हुई तब जिला प्रशासन हरकत में आय़ा। जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार ने शनिवार को थाना दिवस में दोनों पक्षों को सुनने और निष्पक्षता के साथ कार्यवाही का निर्देश एसडीएम सदर आऱबी सिंह को दिया। फिर मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स व राजस्व की टीम पहुंची और दोनों पक्षों के कागजों की पड़ताल के बाद निर्देशित किया कि मामला न्यायालय में विचाराधीन है और जब तक न्यायालय का फैसला नहीं आ जाता तब तक यथास्थिति कायम रहेगी। 

अवैध कब्जा करने वालों पर नकेल कसते हुए पुलिस टीम

कब्जे की नीयत से दबंगों ने घर के पीछे लगी दुर्गा मंदिर प्रशासन की जिन बांस-बल्लियों की बैरिकेटिंग को हटाकर कब्जे का नापाक प्रयास किया था उसे प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में फिर से पूर्व की स्थिति में लगवाया गया और विवाद का निपटारा किया गया। 
स्थानीय जनता ने जिलाधिकारी को निष्पक्ष कार्यवाही के लिए धन्यवाद दिया। एसडीएम सदर ने सख्त लहजे में कहा कि यदि कल जैसी अवैध कब्जे की घटना को दोबारा दोहराया गया तो फिर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)













संबंधित समाचार