बड़ी ख़बर: यूपी में 15 आईएएस अफ़सरों के तबादले.. आवास और आबकारी विभाग के प्रमुख सचिवों का तबादला

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश के प्रशासनिक मशीनरी से बड़ी खबर है। राज्य सरकार ने पन्द्रह आईएएस के तबादले किये हैं। इनमें कई प्रमुख सचिव स्तर के हैं। कई विकास प्राधिकरणों के उपाध्यक्षों को भी बदल दिया गया है। डाइनामाइट न्यूज़ विशेष..

तबादले की लिस्ट
तबादले की लिस्ट

लखनऊ: केन्द्र सरकार में प्रतिनियुक्ति पर कार्यरत रहे आईएएस देवेश चतुर्वेदी की वापसी राज्य सरकार में हो गयी है। इन्हें उत्तर प्रदेश आवास एवं शहरी नियोजन विभाग का नया प्रमुख सचिव नियुक्त किया गया है। अब तक यह विभाग नितिन रमेश गोकर्ण के पास था, अब ये सिर्फ लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव का कामकाज देखेंगे।

यह भी पढ़ें: यूपी में बड़े पैमाने पर जेलरों और डिप्टी जेलरों का तबादला, उन्नाव जेल में कैदियों का वीडियो वायरल होने के बाद बड़ा कदम

कल्पना अवस्थी पर लगातार राज्य में हो रही जहरीली शराबों से मौत की गाज गिरी है। इनसे आबकारी विभाग छीन लिया गया है। कल्पना अब सिर्फ वन विभाग देखेंगी। संजय भूसरेड्डी को आबकारी विभाग की भी जिम्मेदारी दी गयी है। संजय के पहले से ही चीनी व गन्ना विभाग का भी जिम्मा है।

अमित सिंह बंसल से गोरखपुर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का जिम्मा छीन लिया गया है। अब उन्हें चिकित्सा शिक्षा का विशेष सचिव बनाया गया है। ए. दिनेश कुमार को अब गोरखपुर विकास प्राधिकरण का उपाध्यक्ष बनाया गया है।

अरविंद चौरसिया को पीसीएफ से हटाकर मेरठ नगर निगम का आयुक्त बनाया गया है। मनोज कुमार को अब मेरठ से झांसी नगर निगम का आयुक्त बनाया गया है। रवीन्द्र मंदर को सीडीओ आगरा से हटाकर मथुरा-वृंदावन नगर निगम का आयुक्त बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: यूपी में तबादलों का दिन.. 49 एआरटीओ के बदले ठिकाने, पूरी लिस्ट

विजय सिंह को हापुड़ पिलखुआ विकास प्राधिकरण का उपाध्य बनाया गया है। आलोक सिंह को अपर निदेशक सूडा बनाया गया है। ज्ञानेश्वर त्रिपाठी को उपाध्यक्ष अलीगढ़ विकास प्राधिकरण बनाया गया है। भानु चन्द्र गोस्वामी से प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का काम छीन लिया गया है। अब वे सिर्फ डीएम प्रयागराज का काम देखेंगे। टीके शिबु को अब प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। 

उमेश प्रताप सिंह को वाराणसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष का काम सौंपा गया है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार