लखनऊ: चुनाव प्रचार पर रोक के बाद भी सीएम योगी ने‘बजरंगबली’मंदिर में किया हनुमान चालीसा पाठ

डीएन ब्यूरो

चुनाव आयोग डाल-डाल पर पहरा लगा रहा है तो नेता भी पात-पात होते हुए तरकीब निकाल कर पर प्रचार कर रहे हैं। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर प्रचार के लिए 72 घंटे की रोक लगा रखी है वाबजूद इसके सीएम योगी ने लखनऊ के ‘बजरंगबली’मंदिर में हनुमान चालीसा पाठ किया। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट..

मंदिर पहुंच योगी आदित्यनाथ ने की पूजा अर्चना
मंदिर पहुंच योगी आदित्यनाथ ने की पूजा अर्चना

लखनऊ: चुनाव आयोग डाल-डाल पहरा बिठा रहा है तो नेता तरह तरह की तरकीब निकाल कर (गैरचुनावी) प्रचार कर रहे हैं। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पर प्रचार के लिए 72 घंटे की रोक लगा रखी है। इस प्रतिबंध के बाद मुख्‍यमंत्री ने नया तरीका खोज लिया है और वह अब मंदिर में हनुमान चालीसा का पाठ करने पहुंच गए। 

लखनऊ के हनुमान सेतु मंदिर में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह को भी आना था। हालांकि वह मंदिर नहीं पहुंच पाए। सुबह 9 बजे योगी आदित्‍यनाथ मंदिर पहुंचे और वहां करीब 10-15 मिनट रुके। उन्‍होंने हनुमान चालीसा का पाठ किाय और चले गए। इस दौरान उन्‍होंने किसी से कोई बातचीत नहीं की। 

योगी और मायावती पर चुनाव आयोग का सख्‍त कदम, प्रचार पर लगी रोक

उन्‍होंने भले ही कोई राजनीतिक बयानबाजी न की हो लेकिन उनका बजरंग बली के मंदिर जाना ही चुनावी संदेश है। ज्ञात हो कि मायावती के मुस्लिम मतदाताओं से पक्ष में मतदान करने की गुहार लगाने वाली टिप्‍पणी पर जवाब देते हुए योगी आदित्‍यनाथ ने कहा था कि उनके पास अली है तो हमारे पास बजरंग बली हैं।

जयप्रदा पर बयान से पलटे आजम खान, बोले- मैने नहीं लिया किसी का नाम

गौरतलब है कि इससे पहले चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती के प्रचार करने पर रोक लगा दी थी। चुनाव आयोग की यह रोक 16 अप्रैल से शुरू होगी। योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे और मायावती पर 48 घंटे तक लागू रहेगी। इस दौरान दोनों में से कोई भी नेता किसी भी तरह का चुनावी प्रचार नहीं कर पाएंगे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार