गोरखपुरः पकड़े गये संतोष के हत्यारे.. हत्या की चौंकाने वाली वजह आई सामने

डीएन संवाददाता

गोरखपुर के गोला थाना क्षेत्र के ककरही निवासी संतोष की 31 अक्टूबर की रात को हुई हत्या के मामले में पुलिस ने दो युवकों व एक महिला को गिरफ्तार किया है। युवक की हत्या को लेकर आरोपियों ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। डाइनामाइट न्यूज़ की खबर में पढ़ें युवक को किसलिये उतारा मौत के घाट

पुलिस गिरफ्त में हत्यारोपी

गोरखपुरः गोला थाना क्षेत्र के ककरही निवासी संतोष पुत्र रामसहाय की हत्या के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। गोला कोतवाली में सीओ गोला सतीश चंद्र शुक्ल ने बताया कि युवक की 31 अक्टूबर की रात को हत्या की गई थी। हत्या के बाद युवक का शव अतरौरा स्थित नहर के पास फेंककर फरार चल रहे तीन आरोपियों अनूप शुक्ल पुत्र सरवन शुक्ल, संतोष उर्फ बूच्चू पुत्र विश्वनाथ और  किन्नू देवी पत्नी शिवनाथ जो सभी ग्राम ककरही निवासी हैं को पुलिस ने गोला थाना क्षेत्र के गोपालपुर तिराहे से चार नवंबर की रात करीबन 11 बजे गिरफ्तार किया था।        

यह भी पढ़ेंः महराजगंजः जाम में फंसे SP तो पुलिस को याद आया यातायात माह..नियमों की उड़ी खिल्लियां

 

 

 

आरोपियों से हत्या में इस्तेमाल किये गये हथियार जिसमें एक 315 बोर का तमंचा, एक कारतूस व इनके निशानदेही पर हत्या करने में उपयोग मे लाया गया खून से सना ईंट भी बरामद किया गया है। युवक की हत्या में जो खुलासा हुआ है वह भी काफी चौंकाने वाला है। गोला कोतवाली प्रभारी नासिर हुसैन ने बताया कि पुलिस पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि किन्नू देवी के परिवार के लोगों से युवक के साथ किसी बात को लेकर मारपीट हुई थी।    

यह भी पढ़ेंः CM आवास पर मची खलबली,महिला ने बेटियों के साथ खुद पर छिड़का तेल..पुलिसवालों के फुले हाथ-पांव 

उसी पुरानी रंजिश व प्रेम प्रसंग के कारण इन लोगों ने 31 अक्टूबर की रात को संतोष की हत्या कर दी और उसकी लाश को अतरौरा स्थित नहर के पास फेंककर फरार हो गये। अभियुक्तों ने इस साजिश में गांव के ही दिलीप उर्फ भोलु पुत्र चन्द्र प्रकाश व गोविंदा पुत्र राजु भी शामिल था। इन्होंने संतोष को पहले उसके घर किसी बहाने से बुलाया और फिर सभी ने मिलक दारू पी। जब संतोष को नशा ज्यादा हो गया तो ये सभी उसे अतरौरा स्थित नहर की पुलिया के पास लेकर आये। यहां पहले से ही किन्नू देवी मौजूद थी और वहीं तीनों ने तमंचा और ईंट से संतोष पर ताबड़तोड़ वार किये और उसे मौत के घाट उतारकर वहां से फरार हो गये।      

यह भी पढ़ेंः यूपी के गालीबाज एसपी ने ट्विटर पर दी सफाई, महिला विधायक ने किया विरोध

 

 

 

हत्या में शामिल दो आरोपी पहले ही जा चुके हैं जेल

हत्या में शामिल दो अन्य लोग दिलीप उर्फ भोलु पुत्र चन्द्र प्रकाश व गोविंदा पुत्र राजु को शव मिलने के बाद मृतक के पिता के तहरीर पर पहले ही गोला पुलिस ने सभी को धारा 147, 302, 201IPC व 3 (2)(v) SC/ST, 3/25 आर्म्स एक्ट में निरुद्ध कर दिया था। जिसके बाद दो लोगों की तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है । जबकी इन तीन आरोपियों को 4 नवंबर को गिरफ्तार करने के बाद इन्हें जेल भेज दिया गया है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार