परिवहन निगम के एमडी डा. राजशेखर से डाइनामाइट न्यूज़ की बातचीत, रक्षाबंधन को लेकर खास तैयारियां

डीएन ब्यूरो

परिवहन मुख्यालय पर हुई निदेशक मंडल की बैठक में तय किया गया है कि अब हर 200 किमी के बाद बसों की धुलाई कराई जायेगी। इससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी। निजी वेंडरो की मदद से धुलाई-सफाई का काम कराया जायेगा। इस बारे में यूपी परिवहन निगम के एमडी राजशेखर ने डाइनामाइट न्यूज़ से एक्सक्लूसिव बातचीत की।


लखनऊ: कोरोना संकट के बीच अपने यात्रियों की संक्रमण से सुरक्षा के लिए रोडवेज प्रशासन ने बड़ी पहल की है। इससे बसों के सफर को सुरक्षित बनाया जा सकेगा। इस बैठक में कर्मचारियों के हित से जुड़े कुछ दूसरे फैसलों पर भी सहमति बनी, जिन्हें मंजूर कर लिया गया।

बैठक में जिन प्रस्तावों की मंजूरी मिली है, उनमें नियमित और संविदा चालकों और परिचालकों को सीजन के हिसाब से वर्दी उपलब्ध कराना शामिल है। साथ ही यात्री अपने क्रेडिट-डेबिट कार्ड से किराये का भुगतान कर सकेंगे। बसों की चेकिंग करने वाली टीम बस चालकों को दुर्घटना से बचाव के लिए निर्देश देगें। दुर्घटना की स्थिति में चालक अथवा परिचालक की मौत हो जाने पर उन्हे यात्री राहत योजना से मदद दी जायेगी। बस अड्डों पर मौजूद संसाधनों के अनुरूप उन्हे ए,बी,सी कैटेगरी मे बांटा जायेगा।

यूपी रोडवेज के प्रबंध निदेशक डा. राजशेखर ने डाइनामाइट न्यूज से साथ खास बातचीत में बताया कि निगम पिछले 6 सालों से लाभ की स्थिति में है। बैठक में लिये गये सभी फैसले यात्रियों और कर्मचारियों के हित को ध्यान में रखते हुये लिये गये हैं।

वहीं रक्षाबंधन के मौके पर 32 सौ अतिरिक्त बसे लगाई जा रही हैं। खास तौर पर उन रास्तों पर जहां से अधिकांश यात्री बसों से यात्रा करते हैं। अभी 6 हजार के करीब बसें चलाई जा रही हैं। कोविड नियमों का ख्याल रखने के साथ ही यात्रियों की सुविधा का ख्याल रखना प्राथमिकता है।
 













संबंधित समाचार