कार्बेट में बाघ ने वन श्रमिक को निवाला बनाया

डीएन ब्यूरो

कार्बेट टाइगर रिजर्व में बुधवार को एक बाघ ने गश्ती दल में शामिल एक वन श्रमिक को अपना निवाला बना डाला।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

देहरादून: कार्बेट टाइगर रिजर्व में बुधवार को एक बाघ ने गश्ती दल में शामिल एक वन श्रमिक को अपना निवाला बना डाला।

यह भी पढ़ें: चार नामी आईएएस टॉपर्स देंगे नौजवानों को आईएएस की परीक्षा में सफल होने का मूलमंत्र

कार्बेट के वार्डन शिवराज चंद ने बताया कि रिजर्व की ढिकाला रेंज में तुन भुजी के पास छह सदस्यीय दल गश्त पर था। इसी दौरान बाघ ने 55 वर्षीय बिशन राम पर आक्रमण कर दिया और उसे घसीटकर जंगल में ले गया।

उन्होंने बताया कि बिशन राम का अधखाया शव बाद में तुन भुजी के जंगलों के अंदर से बरामद हुआ।

अधिकारी ने बताया कि पालतू हाथियों की मदद से बिशन राम की खोजबीन शुरू की गई। जंगल में काफी अंदर एक नर बाघ उसके शव को खाते दिखाई दिया । शोर मचाने पर भी यह बाघ वहां से नहीं गया बल्कि पलटवार की मुद्रा में आ गया।

वन विभाग के हवाई फायरिंग करने के बाद ही बाघ ने वन श्रमिक के शव को छोड़ा जिसके बाद उसे ढिकाला कैम्पस तक लाया जा सका।

यह भी पढ़ें: ‘डाइनामाइट न्यूज़ यूपीएससी कॉन्क्लेव 2019’ आईएएस परीक्षा से जुड़ा सबसे बड़ा महाकुंभ

वार्डन शिव राज ने बताया कि बाघ देखने में लगभग दस वर्ष की आयु का प्रतीत हो रहा था।

करीब सात महीने पहले भी इसी घटना स्थल के करीब ही वन श्रमिक पंकज कुमार को भी बाघ ने इसी प्रकार हमला कर मार डाला था। (भाषा)













संबंधित समाचार