शिवसेना के बाद अब टीडीपी ने दिखाई भाजपा को आंखें, 2019 के पहले एनडीए की एकता खतरे में..

डीएन ब्यूरो

शिवसेना के बाद टीडीपी नेता चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि वह भाजपा से अलग हो सकती है। टीडीपी ने भाजपा पर कई तरह के आरोप भी लगाये।

चंद्रबाबू नायडू
चंद्रबाबू नायडू

नई दिल्ली: शिवसेना के बाद तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने भाजपा से नाता तोड़ने के संकेत दिए हैं। उन्होंने इन सब के लिये बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। नायडू ने कहा कि भाजपा अब सहयोगी दलों को महत्व नहीं दे रही है। सहयोगियों को साथ लेकर चलना बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व की जिम्मेदारी है। 

कुछ दिन पहले ही भाजपा की पारंपरिक सहयोगी शिवसेना ने बीजेपी को झटका देते हुए अकेले 2019 का चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। 

शिवसेना के बाद अब टीडीपी की यह घोषणा 2019 में होने वाले विधान सभा और लोक सभा चुनावों के मद्देनजर इसे भाजपा के लिये बड़ा खतरा माना जा रहा है। 

शनिवार को चंद्रबाबू नायडू ने साफ कहा भाजपा मित्र धर्म निभाने में अलफल हो रही है। जबकि हम बीजेपी के साथ मित्र धर्म निभा रहे हैं। अगर भाजपा हमारे साथ गठबंधन नहीं चाहती तो हम भी अपनी अलग राह पर चलेंगे। टीडीपी केंद्र में बीजेपी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार में सहयोगी दल है। 

टीडीपी की यह घोषणा इसी साल होने वाले विधानसभा चुनावों और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों में भाजपा के लिये मुश्किलें खड़ी कर सकती है। शिवसेना के बाद एनडीए से अलग होने के संकेत देने वाली टीडीपी ऐसा करने वाली दूसरी पार्टी है। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …