श्रीलंका हमले की आईएसआईएस ने ली जिम्‍मेदारी

डीएन ब्यूरो

श्रीलंका में हुए 21 अप्रैल को हुए धमाकों में 38 विदेशी समेत 321 लोग मारे गए थे, जिसमें 8 भारतीय भी शामिल थे। आज धमाकों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) ने ली है।

घटनास्थल का दृश्य
घटनास्थल का दृश्य

कोलंबो: श्रीलंका में चर्च में प्रार्थना के दौरान हुए धमाकों की जिम्मेदारी आज आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली है। वहीं श्रीलंका के मंत्री रूवन विजयवर्धने ने कहा है कि शुरुआती जांच से पता चला है कि नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) ने अंतरराष्‍ट्रीय संगठन के सम्‍पर्क में आने के बाद यह हमला किया है। 

सोमालिया में मारा गया ISIS का दूसरा सबसे बड़ा आतंकी अब्दुल हाकिम, अमेरिकी सेना ने की थी एयर स्‍ट्राइक

श्रीलंका में 21 अप्रैल को चर्च और होटल में हुए एक के बाद एक धमाकों में 321 लोग मारे गए थे। 22 अप्रैल को एक बस स्टैंड से करीब 87 बम बरामद किए गए थे।

घटना के बाद बिलखते लोग 

ISIS का हमला, मध्य सीरिया में 50 से अधिक लोगों की मौत

आतंकवाद को रोकने का किया जाएगा हर प्रयास

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने आज कहा कि ईस्टर के दिन हमले करने वाला स्थानीय चरमपंथी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजी) एक वैश्विक आतंकवादी नेटवर्क से जुड़ा हुआ है और सरकार आतंकवाद को देश में एक बार फिर सिर उठाने से रोकने के हरसंभव प्रयास करेगी।

NIA ने आतंकियों से जुड़े उत्तर प्रदेश और दिल्ली के 16 ठिकानों पर की छापेमारी

इस्‍लामी चरमपंथियों ने सोशल मीडिया पर पोस्‍ट की थी भड़काऊ सामग्री

श्रीलंका के मंत्री रूवन विजयवर्धने ने बीते दिन बताया था कि हमले से पहले कुछ इस्लामिक चरमपंथी समूह के एक सदस्य ने न्‍यूजीलैंड क्राइस्टचर्च मस्जिद में शूटिंग के बाद सोशल मीडिया पर कट्टरपंथी और भड़काऊ सामग्री पोस्ट की थी।

पुतिन का खुलासा: आईएसआईएस ने सीरिया में 700 लोगों को बनाया बंधक, कई की हत्या

तौहीद जमात कैसे बन गया आतंकवादी संगठन

तौहीद जमात के सचिव अब्दुल रजाक को 2016 में जाति के मसले पर लोगों को उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। यह संगठन छोटे-मोटे स्तर पर ही हिंसा फैलाने तक सीमित था। संगठन पर बौद्धस्‍थलों में तोड़फोड़ और बौद्ध समुदाय के नेताओं के खिलाफ गालीगलौज करने के आरोप लगते रहे। इसे स्‍थानीय स्‍तर का अतिवादी संगठन माना जाता था लेकिन धमाके के बाद से उसके तार आईएसआईएस से जुड़ते नजर आ रहे हैं।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

Loading Poll …