सिंगापुरः फेसबुक पर फटे झंडे की पोस्ट ले डूबा INDIAN की नौकरी..

डीएन ब्यूरो

सिंगापुर में डीबीएस बैंक में नौकरी करने वाले एक भारतीय को फेसबुक पर सिंगापुर के फटे झंडे का पोस्ट करना तब भारी पड़ गया जब उसे इसके लिये नौकरी से हाथ धोना पड़ गया। जिस बैंक में वह नौकरी कर रहा था बैंक ने उसे नौकरी से निकाल दिया। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें, क्या है पूरा मामला

इसी फेसबुक पोस्ट से गई नौकरी
इसी फेसबुक पोस्ट से गई नौकरी

सिंगापुरः किसी भी देश के झंडे को उस राष्ट्र की आन-बान और शान माना जाता है। अगर कोई भी झंडे से छेड़छाड़ या फिर कुछ गलत हरकत करें तो फिर इसे लेकर कड़े नियम बनाये गये हैं। सिंगापुर में एक भारतीय व्यक्ति के साथ तब ऐसा ही हुआ जब उसने फेसबुक पर सिंगापुर के फटे हुये झंडे की तस्वीर को पोस्ट किया और जब इस पोस्ट को चंद मिनटों में कई लोगों ने देखा तो सबकी इस पर तीखी प्रतिक्रिया आने लगी।      

यह भी पढ़ेंः यादगार शादीः जब होटल में पहुंचने के लिये जोड़े ने सड़क पर रुकवाई मैराथन,तब हुई शादी  

 

 

डीबीएस बैंक से निकाल गये अभिजीत

फिर क्या था पोस्ट के बाद सिंगापुर पुलिस ने व्यक्ति को कड़ी चेतावनी दी मामला यहीं थम जाता लेकिन ऐसा नहीं हुआ। झंडे को लेकर पोस्ट करने वाले 44 वर्षीय अभिजीत दास जो सिंगापुर के डीबीएस बैंक में नौकरी करते हैं उन्होंने सोचा भी नहीं था कि यह पोस्ट उन पर इतनी भारी पड़ेगी कि उनकी नौकरी ही चली जायेगी।      

यह भी पढ़ेंः सावधान! दिवाली में Flipkart और Amazon से Online कॉस्मेटिक सामान मंगाने से पहले पढ़ें यह खबर..  

 

 

DBS बैंंक ने की कार्रवाई

 

रिपोर्ट के मुताबिक 14 अगस्त को घटी इस घटना में अभिजीत दास पटनायक ने सिंगापुर इंडियन्स एंड एक्सपैट्स नामक एक समूह के फेसबुक पेज पर एक तस्वीर साझा की थी, जिसमें एक टी-शर्ट पर सिंगापुर के झंडे को फटा हुआ दिखाया गया ताकि उसके नीचे  भारतीय झंडा दिख सके।      

यह भी पढ़ेंः सच कड़वा है..दिल्ली में लड़कों को शादी के पड़े लाले, चौंकाने वाली वजह आई सामने 

 

 

अभिजीत दास (फेसबुक से ली गई फोटो)

 

यह भी पढ़ेंः ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों के उड़े होश..जब मरीज के पेट से निकली ये चीजें  

पुलिस के हवाले से चैनल न्यूज एशिया ने कहा कि जांच के बाद, अटॉर्नी जनरल के चैंबर्स के साथ परामर्श से पुलिस ने अभिजीत को कड़ी चेतावनी जारी की है। रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक पोस्ट को लेकर पुलिस की रिपोर्ट आने के 2 महीने बाद तीन अक्टूबर को उन्हें चेतावनी जारी की गई। 

जब डीबीएस बैंक जहां अभिजीत नौकरी करते थे कंपनी को इस बारे में पता चला तो उन्होंने जांच में अभिजीत को दोषी पाया और उन्हें नौकरी से निकाल दिया। अब अभिजीत बेरोजगार है वो नौ सालों से सिंगापुर में स्थायी निवासी के तौर पर रह रहे हैं। उनके साथ उनकी पत्नी और दो बच्चे भी रह रहे हैं।
 













संबंधित समाचार