सउदी अरब में महिलाओं को 60 साल बाद मिली ड्राइविंग की परमिशन, कई प्रतिबंध जारी

डीएन ब्यूरो

लंबे सघर्ष के बाद आखिरकार सउदी अरब में महिलाओं को अधिकारिक तौर पर ड्राइविंग करने की परमिशन मिल गयी है। महिलाओं के लिए कट्टरपंथी विचारधारा रखने वाले इस देश ने महिलाओं पर लगी यह पाबंदी खत्म कर दी है। पूरी खबर..

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: सउदी अरब की महिलाओं के लिए रविवार का दिन एक ऐतिहासिक दिन बनकर सामने आया। कट्टरपंथी विचारधारा वाले इस देश में 24 जून को महिलाओं को अधिकारिक तौर पर ड्राइविंग करने की परमिशन मिल गई। सउदी अरब एकमात्र ऐसा देश था, जहां पर महिलाओं के गाड़ी चलाने पर बैन था। करीब 60 साल बाद सउदी में महिलाओं का यह परमिशन मिली है।

 

पिछले साल सितंबर 2017 में क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के आदेश पर साउदी शासन में इसे लागू करने की बात कहीं गई थी। प्रिंस सलमान के विजन 2030 को मद्देनजर रखते हुए महिलाओं को कई क्षेत्रों में अधिकार देने की बात की जा रही है। 

कट्टरपंथी विचारधारा

सउदी अरब ऐसा देश है जो कि महिलाओं के लिए कट्टरपंथी विचारधारा रखता है और महिलाओं पर कई तरह की पाबंदियां रखता है। सउदी में अभी भी कई ऐसे कार्य है, जिन्हें महिलाएं नहीं कर सकती। जाने क्या है वो कार्य जो सउदी अरब की महिलाओं नहीं कर सकती है।

 

और क्या-क्या है प्रतिबंध

•    साउदी में अभी भी महिलाओं को फैसले लेने पर पाबंदी है। वह अपनी मर्जी से घूमने नहीम जा सकती, शादी या तालाक का नहीं ले सकती, अगर कोई कान्ट्रेक्ट साइन करना है तो उसके लिए उन्हें अपने पिता, भाई या पति से मंजूरी लेनी होगी।

•    साउदी में महिलाओं के लिए ड्रेस कोड निर्धारित है जिसके बिना वह घर से बाहर नहीं जा सकती। वह अपनी पंसद के कपड़े नही पहन सकती जिसमें उनकी सुंदरता दिखती हो।

 

•    यहां पर वह पुरूष जो उनके घर के या रिश्तेदार नहीं है उन पुरूषों से बातचीत करने के लिए समय सीमा निर्धारित की गई है जिसके अतिरिक्त वह उनसे बात की गई है।

•    साउदी अरब की महिलाएं स्विमिंग पूल्स में नहीं जा सकती।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार