चारा घोटाला: लालू यादव ने कोर्ट में किया सरेंडर, जेल से ही इलाज के लिये भेजे जाएंगे रिम्स

डीएन ब्यूरो

चारा घोटाले में सजा काट रहे आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव ने गुरुवार को रांची की सीबीआई अदालत में सरेंडर किया, जिसके बाद अदालत ने उनकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को देखते हुए जेल से इलाज के लिये रिम्स अस्पताल भेजने का आदेश दिया। डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट


रांची: चारा घोटाले में दोशी करार दिये गये आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव को कोर्ट ने जेल से अस्पताल भेजने का फैसला सुनाया। लालू ने गुरुवार को रांची की सीबीआई अदालत में सरेंडर किया। अदालत ने लालू को जमानत देने से इंकार कर दिया लेकिन उनकी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को देखते हुए जेल से इलाज के लिये अस्पताल भेजे जाने का आदेश दिया।

यह भी पढ़ें: बिरसा मुंडा जेल: जिसका किया उद्घाटन, उसी जेल के कैदी बने लालू

कोर्ट के इस आदेश के बाद लालू याहव को पहले बिरसा मुंडा जेल भेजा जायेगा, जिसके बाद उन्हें इलाज के लिये राजेंद्र प्रसाद इंस्टीट्यटूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) भेजा जायेगा। कोर्ट ने गुरूवार को लालू को अदालत में हाजिर होने का आदेश दिया था।

यह भी पढ़ें: रांची हाईकोर्ट ने लालू यादव की जमानत याचिका की खारिज 

इससे पहसे 24 अगस्त को रांची हाईकोर्ट ने लालू की औपबंधिक जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू की प्रोविजनल बेल की समय सीमा 27 अगस्त हैं, जो समाप्त होने वाली थी और हर हाल में 30 अगस्त तक कोर्ट में सरेंडर करना था। लालू यादव ने हाईकोर्ट में अपने बिगड़ते स्वास्थ्य को आधार बनाकर प्रोविजनल बेल की अवधि बढ़ाने की अपील की थी, जिसे कोर्ट ने नकार दिया था।

चारा घोटाले में दोषी करार दिये लालू यादव समेत 16 आरोपियों पर दुमका ट्रेजरी से 13 करोड़ रुपये का गबन करने का आरोप है। इस मामले में कुल 31 लोगों पर घोटाले का आरोप था, जिनमें से कोर्ट ने 12 को बरी कर दिया और 16 के खिलाफ कोर्ट में आरोप साबित हुए थे। 

 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार