नक्सली हमलों की छत्तीसगढ़ में बाढ़..अमित शाह बोले- रमन सरकार ने राज्य को किया नक्सलवाद से मुक्त

डीएन ब्यूरो

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि छत्तीसगढ़ में रमन सिंह की सरकार ने राज्य को नक्सलवाद से लगभग मुक्त कर दिया है और इसे बिजली और सीमेंट उत्पादन के हब के रूप में विकसित किया है। यहां विधानसभा चुनाव से ठीक पहले नक्सलियों ने दो हमले किये हैं। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें और क्या बोले अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह

रायपुर: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि छत्तीसगढ़ में रमन सिंह की सरकार ने राज्य को नक्सलवाद से "लगभग मुक्त" कर दिया है और इसे बिजली और सीमेंट उत्पादन के हब के रूप में विकसित किया है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि नक्सलवाद को क्रांति का माध्यम समझने वाली पार्टी छत्तीसगढ़ का कोई भला नहीं कर सकती।

यह भी पढ़ें: मिजोरम में 28 को चुनावी दंगल.. 208 प्रत्याशियों ने दाखिल किया नामांकन

शाह ने भरोसा जताया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राज्य में इस महीने होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर लगातार चौथी बार सरकार बनाएगी।

12 नवंबर को होने वाले पहले चरण के चुनाव से पहले पार्टी का घोषणा-पत्र जारी करने के बाद यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुये शाह ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्त्व में भाजपा सरकार ने नक्सलवाद को नियंत्रित किया है और राज्य को इससे लगभग मुक्त कर दिया है।’’ 

उन्होंने कहा कि पहले बीमारू राज्य(आर्थिक रूप से पिछड़े) में गिना जाने वाला छत्तीसगढ़ अब ‘‘बिजली और सीमेंट उत्पादन केंद्र’’ बन गया है।

उन्होंने राज्य के विकास के लिए शुरू की गई विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए रमन सिंह सरकार की जमकर प्रशंसा की।

शाह ने कहा, ‘‘पिछले 15 वर्षों से राज्य के विकास के लिए अथक काम करना एक बड़ी चुनौती है। मुझे विश्वास है कि भाजपा लगातार चौथी बार जीत दर्ज कर सरकार बनाएगी।’’ 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की है और महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) को भ्रष्टाचार मुक्त बनाया है।

यह भी पढ़ें: भाजपा नेता के इस दावे पर क्या आप कर पायेंगे विश्वास?

90 सदस्यीय छत्तीसगढ़ विधानसभा का चुनाव दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को होगा। चुनाव परिणाम की घोषणा 11 दिसंबर को की जाएगी।  (भाषा)
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार