नोटबंदी से 'सूट-बूट' पहनने वाले अमीरों की हुई चांदी, गरीबों का निकला दिवाला: राहुल गांधी

डीएन ब्यूरो

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जवाबी हमला बोला और कहा कि नोट बंद करने से गरीबों को नुकसान हुआ और ‘सूट-बूट’ पहनने वाले अमीरों को फायदा हुआ। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें राहुल ने केंद्र सरकार को लेकर और क्या कहा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

महासमुंद: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जवाबी हमला बोला और कहा कि नोट बंद करने से गरीबों को नुकसान हुआ और ‘सूट-बूट’ पहनने वाले अमीरों को फायदा हुआ।

छत्तीसगढ़ में 20 नवंबर को होने वाले दूसरे चरण के मतदान से पहले यहां रैली को संबोधित करते हुए गांधी ने मोदी सरकार पर राफेल विमान सौदे के जरिये उद्योगपति अनिल अंबानी की कंपनी को लाभ पहुंचाने का अपना आरोप भी दोहराया।

यह भी पढ़ें: RBI गर्वनर को राहुल की नसीहत, कहा- देश बचाने के लिये तनकर खड़े हो जाओ श्रीमान पटेल

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने गरीबों से 30 हजार करोड़ रुपये छीनकर उद्योगपति की जेब में डाल दिये।

उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस छत्तीसगढ़ में सत्ता में आई तो सरकार में आने के 10 दिन के भीतर राज्य के किसानों का कर्ज माफ कर देगी।

गांधी ने कहा, ‘‘उन्होंने (मोदी ने) कहा था कि नोटबंदी से लोगों के तकियों के अंदर से पैसा बाहर निकला। वह सही हैं। लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि पैसा किससे छीना गया। सभी गरीबों को कतारों में लगना पड़ा। क्या कोई अरबपति कतार में लगा था? क्या सूट-बूट पहना कोई व्यक्ति कतार में दिखा?’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत के प्रधानमंत्री ने अमीरों का काला धन सफेद में बदलने में मदद की। उन्होंने गरीबों का पैसा लिया और अमीरों को लाभ पहुंचाया।’’ 

यह भी पढ़ें:आयकर मामलाः राहुल, सोनिया के खिलाफ 4 दिसंबर को अंतिम दलील सुनेगा सुप्रीम कोर्ट

मोदी ने नोटबंदी के लिए खुद को निशाना बनाये जाने पर सोमवार को राहुल और सोनिया गांधी पर तंज कसा था। उन्होंने एक चुनावी रैली में कहा कि उन्हें ‘मां-बेटे’ की जोड़ी से ईमानदारी के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है जो जमानत पर हैं।

प्रधानमंत्री ने सोनिया और राहुल गांधी का नाम लिये बिना कहा था, ‘‘वे नोटबंदी का हिसाब चाहते हैं। नोटबंदी की वजह से फर्जी कंपनियों की पहचान हुई। और उसकी वजह से आपको जमानत लेनी पड़ी। आप क्यों भूल जाते हैं कि नोटबंदी की वजह से आपको जमानत मांगनी पड़ी।’’ (भाषा )

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार