शर्मनाकः छात्राओं के कपड़े उतरवाकर ली गई तलाशी.. CM दरबार पहुंचा मामला

डीएन ब्यूरो

पंजाब के फाजिल्का जिले के अबोहर तहसील के गांव कुंडल में एक सरकारी स्कूल में छात्राओं के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। छात्राओं के कपड़े उतारकर शिक्षिकाओं ने जांच की है।आखिर स्कूल में छात्राओं के साथ ऐसा क्यों किया गया? डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें पूरा मामला

पंजाब के एक सरकारी स्कूल का मामला
पंजाब के एक सरकारी स्कूल का मामला

अबोहर (फाजिल्का): पंजाब के फाजिल्का जिले की अबोहर तहसील के गांव कुंडल में सरकारी कन्या मिडिल स्कूल के बाथरूम में सेनेटरी पैड मिलने के बाद छात्राओं के कपड़े उतरवाकर तलाशी लेने की शर्मनाक हरकत सामने आई है। शिक्षकों के इस बर्ताव की जानकारी छात्राओं ने पहले अभिभावकों को दी इसके बाद प्रताड़ित की गई इन छात्राओं के अभिभावकों ने एसडीएम से शिकायत की।        

यह भी पढ़ेंः पोर्न वेबसाइट देखने की है आदत.. तो हो जाइये सावधान! झेलनी पड़ेगी ये परेशानी  

 

 

क्लाश में पढ़ाई करती छात्राएं (प्रतीकात्मक तस्वीर)

 

शिकायत पर संज्ञान लेने के लिये एसडीएम पूनम सिंह स्कूल पहुंची, इसके बाद अब मामला CM दरबार में पहुंचा है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मामले में स्कूल को सोमवार तक रिपोर्ट सौंपने को कहा है। साथ ही छात्राओं के कपड़े उतारकर जांच करने वाली आरोपित दो महिला शिक्षकों के तुरंत तबादले के आदेश दिये हैं।
बता दें कि दो दिन पहले स्कूल के बाथरूम में सेनेटरी पैड मिले थे जिस पर एक शिक्षिका ने पहले 7वीं कक्षा की छात्रा से इस पर पूछताछ की इसके बाद सहयोगी शिक्षिका ने आठवीं की छात्राओं को बुलाकर उनकी तलाशी ली।      

यह भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीर में अब खड़ा हुआ एक और नया संकट, सड़कों पर फंसे लोग 

 

 

स्कूल में मिला था सेनेटरी पैड

 

छात्राओं का आरोप है कि उनके कपड़े उतारकर तलाशी ली गई थी जिस पर उन्हें शर्मिंदगी झेलने पड़ी थी। इसके बाद स्कूल की छुट्टी होने पर छात्राओं ने अपने अभिभावकों को इस बात की जानकारी दी और जब छात्राओं के परिजन स्कूल में पहुंचे तो उन्होंने प्रिंसिपल से इस बारे में बातचीत की।   

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान के साथ खड़ा होना चीन को पड़ रहा है महंगा.. कुदरत की आंखें हुई टेढ़ी 

इस पर प्रिंसिपल ने अफसोस जाहिर करते हुये आरोपित अध्यापिका से बात करने और कार्रवाई का आश्वासन दिया। मामले को गर्माता देख स्कूल मैनेजमेंट कमेटी की चेयरमैन इंद्रजीत कौर ने एसडीएम को सूचित किया। अब एसडीएम पूनम सिंह,सरकारी अस्पताल की डॉक्टर शैली अरोड़ा, पंजाब पुलिस की सब इंस्पेक्टर सुनीता रानी छात्राओं के पास पहुंची और उनके अभिभावकों से मामले में बयान लिये हैं। डीसी के आदेश पर अब मामले की जांच के लिये तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। जो सोमवार तक अपनी रिपोर्ट सीएम को सौंपेगी।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार