एक लाख के इनामी बदमाश तौकीर को एसटीएफ ने उड़ाया, व्‍यवसायी राजेश सिंह की हत्‍या में था मुल्जिम

डीएन ब्यूरो

यूपी एसटीएफ को मिली बड़ी सफलता: प्रतापगढ़ जेल के सिपाही के साथ मार्बल व्‍यवसायी राजेश सिंह की हत्‍या के मामले में फरार चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश तौकीर को आज एसटीएफ के साथ प्रतापगढ़ पुलिस ने मुठभेर में ढेर कर दिया। हालांकि इस दौरान उसका एक साथी फरार हो गया।

बदमाश से मिली बाइक
बदमाश से मिली बाइक

प्रतापगढ़: प्रयागराज, जौनपुर और प्रतापगढ़ में आतंक का पर्याय बने बदमाश को एसटीएफ और स्‍थानीय पुलिस ने मार गिराया। हालांकि मुठभेड़ के दौरान उसका एक अन्‍य साथी फरार होने में सफल रहा।

यह भी पढ़ें: बैंक खातों की जानकारी एक रुपये की कीमत में खरीदकर देते थे ठगी को अंजाम

उत्‍तर प्रदेश एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश ने डाइनामाइट न्‍यूज को बताया कि प्रतापगढ़ जेल के सिपाही के साथ ही मार्बल व्‍यवसायी राजेश सिंह की हत्‍या और कई बड़ी लूट के मामले में फरार चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश तौकीर को आज सुबह एसटीएफ ने मार गिराया। बदमाश और एसटीएफ व स्‍थानीय पुलिस की टीम के बीच चिलबिला रेलवे क्रॉसिंग के पास मुठभेड़ में हुई।

एक लाख इनामी तौकीर 

बीते एक साल से उसकी तलाश जारी थी। पिछले कई दिनों से उसकी लखनऊ, गुजरात व मुंबई में लोकेशन मिल रही थी। जिसके बाद से ही एसटीएफ उसके लिए जाल बिछा रही थी। 

यह भी पढ़ें: प्रयागराज के प्रापर्टी डीलर सर्वेश तिवारी हत्‍याकांड का एसटीएफ ने किया खुलासा, मास्‍टरमाइंड समेत दो को दबोचा

एसटीएफ को सूचना मिली थी कि तौकीर ईद पर अपने घर आने वाला है जिसके चलते एसटीएफ टीम ने प्रतापगढ़ में ही डेरा डाल रखा था। सुबह तकरीबन तीन बजे वह ईद मना के घर वापस जा रहा था तब उसे एसटीएफ ने घेर लिया था। उसके पास से 32 बोर की 2 पिस्‍टल और एक कार्बाइन भी बरामद की है। 

यह भी पढ़ें: एसटीएफ ने दो शराब तस्‍करों को साढ़े छह लाख की शराब के साथ किया गिरफ्तार

पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके तौकीर के खिलाफ दर्जनों मामले दर्ज हैं। उसने मार्बल व्‍यापारी राजेश सिंह, जेल वार्डन हर नारायण त्रिवेदी और दिनेश दुबे की हत्‍या की थी।

यह भी पढ़ें: इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय के छात्र रोहित शुक्‍ला की हत्‍या करने वाले अभिषेक यादव को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

एसटीएफ लखनऊ की टीम में एसएसपी अभिषेक सिंह के साथ एएसपी सत्यसेन यादव, निरीक्षक हेमंत भूषण, सब इंस्पेक्टर विनय सिंह, सब इंस्पेक्टर उमेश यादव के साथ कांस्टेबल राम सिंह, आलोक, अरविंद और कमांडो सुबोध व विजय थे।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …