बैंक खातों की जानकारी एक रुपये की कीमत में खरीदकर देते थे ठगी को अंजाम

डीएन ब्यूरो

बैंक खातों की जानकारी एक रुपये में खरीदकर ठगी करने वाले गैंग का नोएडा एसटीएफ ने खुलासा किया है। चारों ठगों के पास से तकरीबन पचास हजार से अधिक खातों की जानकारियां मिली हैं। इस गैंग में लड़कियां भी शामिल थीं। वहीं पूछताछ में कुछ और नामों का खुलासा हुआ है जिनकी खोजबीन की जा रही है।

एसटीएफ द्वारा पकड़े गए चारो ठग
एसटीएफ द्वारा पकड़े गए चारो ठग

नोएडा: नोएडा एसटीएफ ने कविनगर थाना पुलिस की मदद से साइबर क्राइम करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। नोएडा डायमंड आरओबी के पास से पुलिस ने चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। चारों युवक बैंक का बेहद सिक्‍योर डाटा को रखने वाली कंपनियों से डाटा खरीदकर ठगी करते थे। 

सीओ एसटीएफ राजकुमार मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित महेंद्रा इनक्‍लेव निवासी संजीत उर्फ संदीप, बलदेव और गजेंद्र उर्फ राहुल उर्फ राजवीर शास्‍त्रीनगर निवासी राहुल चौधरी उर्फ तपेश्‍वर को गिरफ्तार किया गया है। 

इनके पास से तीन मोबाइल और और लगभग 50 हजार लोगों के बैंक खाते और क्रेडिट कार्ड का डेटा बरामद किया गया है। पूछताछ में एक नाम और सामने आया है नजफगढ़ शैलेंद्र कुमार, माय मनी मंत्रा कंपनी में काम करता था। वह इन लोगों को केवल एक रुपये में एक आदमी का डाटा बेच देते थे। 

यह गिरोह क्रेडिट कार्ड बनवाने वालों से खासकर ठगी करता है। इनके गिरोह में कई लड़कियां भी हैं जो बैंक एक्जिक्‍यूटिव बन कर ग्राहकों से वेरीफिकेशन कॉल के नाम पर संपर्क करते थे। 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)






संबंधित समाचार