थम नहीं रहा है तब्लीगी जमात की बदसलूकी का आलम

डीएन ब्यूरो

उत्तर प्रदेश में मेडिकल स्टाफ और पुलिस कर्मियों के प्रति तब्लीगी जमात के सदस्यों के बदसलूकी के रवैये में कमी आने के बजाय इजाफा होना सरकार के लिये चुनौती पेश कर रहा है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में मेडिकल स्टाफ और पुलिस कर्मियों के प्रति तब्लीगी जमात के सदस्यों के बदसलूकी के रवैये में कमी आने के बजाय इजाफा होना सरकार के लिये चुनौती पेश कर रहा है।
 
 
गाजियाबाद के बाद कानपुर,लखनऊ और बस्ती समेत कुछ अन्य जिलों में क्वारंटीन अथवा आइसोलेशन वार्ड में रखे गये कोरोना संदिग्धों और मरीजों द्वारा मेडिकल स्टाफ के साथ बदतमीजी किये जाने की घटनाये प्रकाश में आयी है।
 
 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही जमात के सदस्यों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने और मेडिकल स्टाफ और पुलिसकर्मियों के साथ र्दुव्यवहार करने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) में तहत मुकदमा दर्ज किये जाने के आदेश दे चुके हैं।(वार्ता)

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)








संबंधित समाचार