मैरी कॉम ने रचा इतिहास, एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

डीएन ब्यूरो

पांच बार की विश्व चैम्पियन भारतीय मुक्केबाज एम सी मैरी कॉम ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 48 किलोवर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर फिर इतिहास रच दिया है। मैरी कॉम ने करीब एक साल बाद मुक्केबाजी रिंग में वापसी की है। यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मेरीकाम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है।

फाइल फोटो
फाइल फोटो

नई दिल्ली: पांच बार की विश्व चैम्पियन भारतीय मुक्केबाज एम सी मैरी कॉम ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में 48 किलोवर्ग में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। मैरी कॉम ने फाइनल में दक्षिण कोरिया की प्रतिद्वंद्वी किम ह्यांग को 5-0 से हराकर यह खिताब अपने नाम किया।

मैरी कॉम ने हालांकि, इस टूर्नामेंट में 48 किलोग्राम वर्ग में पहली बार स्वर्ण पदक जीता है। एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में मैरी कॉम का यह 5 वां गोल्ड मेडल है। इससे पहले मैरी कॉम ने इस टूर्नामेंट में चार बार गोल्ड मेडल जीता है। मैरी ने साल 2003, 2005, 2010 और 2012 में गोल्ड मेडल हासिल किया। 

बता दें कि मैरी कॉम तीन बच्चों की मां है। उन्होंने करीब एक साल बाद मुक्केबाजी रिंग में वापसी की है। यह 2014 एशियाई खेलों के बाद मेरीकाम का पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण पदक है।
 

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)







आपकी राय

#DNPoll क्या सीबीएफसी के अनुमोदन बिना फिल्म पद्मावती की प्राइवेट स्क्रीनिंग उचित है?