सुपरमॉम एमसी मैरी कॉम का अब टूटे नहीं टूटेगा यह वर्ल्ड रिकॉर्ड..

डीएन ब्यूरो

सुपरमॉम एमसी मैरी कॉम ने 48 किलोग्राम बॉक्सिंग स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतकर एक नया इतिहास रच दिया है। वह अब पहली ऐसी भारतीय महिला बॉक्सर बन गई है जिन्होंने छठी बार यह खिताब अपने नाम किया। डाइनामाइट न्यूज़ की रिपोर्ट में पढ़ें एमसी मैरी कॉम ने कैसे किया यह कारनामा

एमसी मेरी कॉम ने रचा इतिहास
एमसी मेरी कॉम ने रचा इतिहास

नई दिल्लीः 35 वर्षीय सुपरमॉम एमसी मैरी कॉम ने शनिवार को वर्ल्ड चैंपियनशिप में दिल्ली के केडी जाधव हॉल में 48 किलोग्राम बॉक्सिंग कैटिगरी के फाइनल में यूक्रेन की हन्ना ओकोता को 5-0 से हराकर इतिहास रच दिया है। अपनी इस जीत के साथ ही मेरी कॉम भावुक हो गई और उन्होंने कहा कि 'मैं इस जीत के लिये अपने सभी प्रशंसकों का शुक्रिया अदा करती हूं, जो मुझे यहां समर्थन करने लिये आये। केडी जाधव हॉल में मेरी कॉम ने कहा कि मैं आप सभी की तहेदिल से शुक्रगुजार हूं।    

यह भी पढ़ेंः अयोध्या को लेकर शिवसेना और भाजपा में घमासान.. मची श्रेय लेने की होड़

 

वर्ल्ड चैंपियनशिप में मैरी कॉम ने की जीत दर्ज

 

मेरे लिये यह महान पल है। यह दूसरा मौका है, जब वह खिताबी फाइट के लिये घरेलू फैंस के सामने थीं। इस जीत के साथ ही अब मैरी कॉम आयरलैंड की कैटी टेलर तो पछाड़कर सबसे अधिक 6 वर्ल्ड चैंपियनशिप्स में जीतने वाली पहली महिला बॉक्सर बन गईं। इससे पहले मेरी और टेलर 5-5 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीतकर बराबरी पर थीं।   

 

 

इससे पहले मेरी और टेलर 5-5 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब जीतकर बराबरी पर थीं। मैरी कॉम ने 6 खिताब जीतकर वर्ल्ड रिकॉर्ड (महिला-पुरुष) की भी बराबरी कर ली है। इससे पहले 6 बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव पुरुष बॉक्सिंग में क्यूबा के फेलिक्स सेवोन के नाम था। सेवोन ने बुडापेस्ट में 1977 में  चैंपियनशिप में गोल्ड जीतकर यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था।   

यह भी पढ़ेंः अयोध्या में उद्धव ठाकरे की ललकार.. राम मंदिर बनाये केंद्र सरकार   

 

मैरी ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में अब तक जीते 7 पदक

 

यह भी पढ़ेंः अजीबो-गरीबः भारत में यहां लगता है भूतों का सबसे बड़ा मेला.. मेले में जुटते हैं लाखों लोग    

 

 

बता दें कि वर्ल्ड चैंपियनशिप में यह मैरी कॉम का 7 पदक हैं। उन्होंने अब तक कुल 6 गोल्ड और एक रजत पदक जीता है। इससे पहले मैरी 2006 में दर्शकों के सामने रिंग में उतरी थीं। सुपर मॉम ने यहां लाइट फ्लाइवेट (48Kg) में रोमानिया की स्टेलुटा दुता को हराकर अपना 5वां वर्ल्ड क्राउन जीता था।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)