महराजगंज में भीड़ के हत्थे चढ़ा चोर, लोगों ने की जमकर धुनाई..

डीएन संवाददाता

महराजगंज जिले में चोरी की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। अब एक बार फिर से चोरी की घटना को अंजाम देने की कोशिश की गई लेकिन लोगों ने चोर को रंगे हाथ पकड़ लिया और उसकी जमकर धुनाई कर दी। पढ़ें डाइनामाइट न्यूज़ की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट..

पनियरा थाना क्षेत्र में हुई है चोरी
पनियरा थाना क्षेत्र में हुई है चोरी

महराजगंज: पनियरा थाना क्षेत्र के मौलागंज चौराहे पर बीती रात किराने की दुकान में लगभग एक बजे सुग्रीव प्रसाद उर्फ लल्लू सेठ की किराने की दुकान में चोर नकाब लगाकर एक बार फिर चोरी की घटना अंजाम देने जा रहा था लेकिन ग्रामीणों ने चोर को रंगे हाथ पकड़ लिया और उसकी जमकर धुनाई कर डाली। पिटाई के बाद चोर अधमरा हो गया। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर के संस्थापक सदस्य रामजतन विश्वकर्मा का निधन, नगर में छाया मातम

चोरी की कई घटनाएं आईं सामने 

ग्रामीणों के अनुसार क्षेत्र में लगातार चोरियां हो रही हैं। लोग चोरों से परेशान हैं। अभी कुछ दिनों में पनियरा मार्केट में भी एक ही रात में चोरी की कई घटनाएं हुई हैं जिसका पनियरा पुलिस खुलासा करने में लगी हुई है।  

                         
वहीं बीती रात की घटना की बात करें तो ग्रामीणों का कहना है कि रात्रि में कोहरा भी अधिक था  इस कारण लगभग दो से तीन चोर अंधेरे में भाग गये। चोरी के बारे में पता चलते ही दुकान मालिक ने तत्काल पनियरा पुलिस को इसकी जानकारी दी और चोर को पुलिस के हवाले कर दिया। 

यह भी पढ़ें: महराजगंज: कमीशनखोरी के चलते लोगों को मिली टूटी सड़क और बांस पर लटकते बिजली के तार..

थानाध्यक्ष का क्या कहना है?

इस संबंध में थानाध्यक्ष ने डाइनामाइट न्यूज़ संवाददाता को बताया कि इससे पहले भी उसी दुकान के साथ- साथ और भी कई दुकानों में चोरियां हुई हैं जिनका खुलासा करने के लिए पनियरा पुलिस लगी हुई है। रात्रि की घटना में एक चोर मौके से पकड़ा गया है। थानाध्यक्ष का कहना है कि पूछताछ जारी है। जल्द ही सारी घटनाओं का खुलासा किया जाएगा।

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)











आपकी राय

#DNPoll क्या आपको लगता है जनता के असली मुद्दों को लेकर मोदी और राहुल के बीच आमने-सामने की डिबेट होनी चाहिये?

हां
80.95%
नहीं
19.05%