महराजगंज: कैबिनेट मंत्री की जनसभा के पास लगे होर्डिंग से खुलेआम आचार संहिता का उल्‍लंघन, अफसर बेखबर

डीएन ब्यूरो

चुनाव आयोग लगातार प्रयास करता रहता है लेकिन अक्‍सर स्‍थानीय प्रशासनिक लापरवाही के कारण आचार संहिता का उल्‍लंघन होता है। ऐसी ही कुछ लापरवाही महराजगंज में भी दिखी। जहां एक स्‍कूल में योजनाओं के होर्डिंग में पीएम और सीएम की फोटो लगी है। जिसे अभी तक हटाया नहीं गया है। वहीं पर कैबिनेट मंत्री की जनसभा का कार्यक्रम किया जा रहा था।

महराजगंज के सिसवा विकास प्रखंड में जनसभा को संबोधि‍त करते  कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मोर्य
महराजगंज के सिसवा विकास प्रखंड में जनसभा को संबोधि‍त करते कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मोर्य

महराजगंज: लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें चरण के लिए 19 मई को मतदान होना है। जिसके लिए बीते दिन सिसवा विकास खंड के एक गांव में कैबिनेट मंत्री की जनसभा का कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम स्‍थल पर लगे एक होर्डिंग ऐसा लगा था जो चुनाव आचार संहि‍ता के निदेर्शों को खुलेआम मुंह चिढ़ा रहा था।

यह भी पढ़ें: सरकारी योजना के होर्डिंग्‍स में प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री की तस्‍वीर से खुलेआम हो रहा आचार संहिता का उल्‍लंघन, अफसर बेखबर

महराजगंज के सिसवा विकास खंड के सबया गांव के अहिरौली टोले में बुधवार को कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मोर्य की जनसभा हुई। जनसभा कार्यक्रम प्राथमिक विद्यालय के पास हुआ। जनसभा स्‍थल पर ही सौभाग्‍य योजना का एक बड़ा सा बोर्ड लगा हुआ था। उस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्‍तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की फोटो बनी हुइ है। जिससे चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों का खुलेआम उल्‍लंघन हो रहा था लेकिन किसी भी अधिकारी या कर्मचारी की निगाह उस पर नहीं गई। जबकि चुनाव आयोग ने इस संबंध में स्‍पष्‍ट गाइडलाइन जारी कर रखी है।

यह भी पढ़ें: महराजगंज: छात्रों ने साइकिल रैली निकालकर ग्रामीणों को मतदान के लिए किया जागरूक, बताया मताधिकार का महत्‍व 

जनसभा को संबोधि‍त करते स्वामी प्रसाद मोर्य और पीछे लगा सौभाग्‍य योजना का होर्डिंग

गांव के लोगों के बीच यह मुद्दा चर्चा का विषय बना रहा कि किस तरह एक तरफ कैबिनेट मंत्री भाजपा सरकार की खूबियां गिना रहे थे, वहीं उनके पीछे लगा पार्टी का होर्डिंग चुनाव आयोग की पारदर्शिता को तार-तार कर रहा था।

यह भी पढ़ें: गोरखपुर एयरपोर्ट से मुंबई के लिए फ्लाइट के टिकटों की बुकिंग शुरू, जाने क्या है शुरुआती किराया

(डाइनामाइट न्यूज़ के ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)










आपकी राय

Loading Poll …